नई दिल्ली: दिल्ली हाईकोर्ट ने बुधवार को सीबीआई से अपने पूर्व निदेशक राकेश अस्थाना से जुड़े रिश्वत के कथित मामले की जांच पूरी करने में नाकाम रहने पर 10 फरवरी को जांच एजेंसी के निदेशक को अदालत में उपस्थित होने को कहा. जस्टिस विभु बाखरू ने मामले में अपनी छानबीन पूरी करने के लिए लगातार समय बढ़ाने की मांग को लेकर सीबीआई को फटकार भी लगायी. Also Read - दिल्ली High Court ने कोरोना से लड़ने में अहम दवाओं की कमी पर कहा-केंद्र विवेक का इस्तेमाल कर संसाधनों और दवाओं का करें आवंटन

अदालत ने सीबीआई की एक याचिका पर सुनवाई करते हुए यह आदेश जारी किया. इस याचिका में जांच पूरी करने के लिए समय बढ़ाने की मांग की गई थी. Also Read - दिल्ली में हाईकोर्ट, जिला अदालतों में 23 अप्रैल तक डिजिटल सुनवाई

हाईकोर्ट ने कहा कि अगर सुनवाई की अगली तारीख 10 फरवरी के पहले जांच पूरी हो जाती है तो उसकी याचिका अमान्य हो जाएगी और अदालत को किसी अधिकारी की जरूरत नहीं होगी.

सीबीआई के पूर्व निदेशक राकेश अस्थाना और दो अधिकारियों पर भ्रष्टाचार रोकथाम कानून की संबंधित धाराओं के तहत आपराधिक साजिश, भ्रष्टाचार और आपराधिक कदाचार के आरोपों पर मामला दर्ज किया गया था.