नई दिल्ली: सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) 10वीं के नतीजे आ गए हैं. इस साल 10वीं कक्षा का पास का प्रतिशत 90.95 फीसदी रहा, जबकि साल 2016 में यह आंकड़ा 96.21 फीसदी था.  इस तरह पास होने वाले छात्रों की संख्या में 5 फीसदी से ज्यादा की गिरावट दर्ज की गई है.

त्रिवेंद्रम अव्वल, दिल्ली  फिसड्डी

 पांच रीजन में से सबसे अच्छा प्रदर्शन  त्रिवेंद्रम का रहा है. इस रीजन के 99.85% बच्चे सफल हुए हैं. दूसरे नंबर पर चेन्नै के बच्चे रहे हैं, जहां पास होने वालों की संख्या 99.62% रही. इस मामले में इलाहाबाद रीजन 98.23% के साथ तीसरे नंबर पर रहा, जबकि दिल्ली रीजन काफी पीछे छूट गया. दिल्ली रीजन में मात्र 78.09% छात्र सफल हुए हैं, जो पिछले साल के मुकाबले 13% कम है.

त्रिवेंद्रम– 99.85%

चेन्नई- 99.62%

इलाहाबाद– 98.23%

भुवनेश्वर– 92.15%

चंडीगढ़– 94.34%

गुवाहाटी– 65.53%
दिल्ली- 78.0 9%
पटना– 95.50%
देहरादून- 97.27%
अजमेर– 93.30%

सीबीएसई से मान्यता प्राप्त करीब 16,000 स्कूलों के 16,67,573 विद्यार्थी इस साल 10वीं की परीक्षा में बैठे थे. हालांकि, हर साल परिणाम कुछ पहले आ जाते थे लेकिन इस बार कुछ राज्यों में विधान सभा चुनाव होने की वजह से और मॉडरेशन पॉलिसी को लेकर हुए विवाद के चलते परिणाम कुछ देर से आ रहे हैं.

छात्र सीबीएसई की आधिकारिक वेबसाइट cbse.nic.in और cbseresults.nic.in के अलावा examresults.net और result.nic.in पर जाकर अपने परीक्षा परिणाम देख सकते हैं. हालांकि अभी, दिल्ली, इलाहाबाद, चेन्नई, देहरादून, तिरुवनंतपुरम रीजन के रिजल्ट ही आए हैं, और वेबसाइट पर नोटिफिकेशन हैं कि बाकि रीजन के रिजल्ट भी जल्दी आ जाएंगे.