नई दिल्ली: पेपर लीक का मामला सामने आने के बाद सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) ने बुधवार को कहा कि 10वीं मैथ्स और 12वीं के इकोनॉमिक्स की परीक्षा दोबारा आयोजित की जाएगी. लेकिन परीक्षा कब आयोजित होगी, इसकी घोषणा सप्ताह के आखिर में की जाएगी. यानी कि 31 मार्च को 10वीं के मैथ्स पेपर के री-एग्जाम की डेट की घोषणा की जा सकती है. Also Read - CBSE Board Exam 2021: सीबीएसई ने 10वीं, 12वीं के छात्रों के लिए परीक्षा शुल्क जमा करने की बढ़ाई डेट, अब इस दिन तक कर सकते हैं भुगतान  

Also Read - CTET 2020 Latest News: आखिर कब जारी होगा CTET 2020 का एडमिट कार्ड? CBSE ने इसको लेकर दी ये जानकारी 

वहीं लीक हुए 12वीं अर्थशास्त्र पेपर की दोबारा परीक्षा कराने के मुद्दे पर कहा कि बोर्ड इस मामले के हर पहलू को देख रहा है और जल्द ही इसके री-एग्जाम की डेट भी जारी कर दी जाएगी. Also Read - CBSE Compartment Results 2020: सीबीएसई ने जारी किया 10वीं कंपार्टमेंट परीक्षा का रिजल्ट, ऐसे करें चेक

यह भी पढ़ें: CBSE Paper Leak: राहुल गांधी का पीएम मोदी पर हमला, ‘हर चीज में लीक है, चौकीदार वीक है’

CBSE ने बुधवार को कहा कि 10वीं और 12वीं के क्रमश: मैथ्स और अर्थशास्त्र पेपर की दोबारा परीक्षा कराने को लेकर सर्कुलर जारी किया जाएगा, जिसकी जानकारी बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट पर भी जारी की जाएगी.

इसी बीच दिल्ली पुलिस ने बुधवार को कहा कि पेपर लीक मामले की जांच करने के लिए स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम (SIT) बनाई गई है. दिल्ली पुलिस ने इस मामले में 25 लोगों से अब तक पूछताछ की है. बता दें कि दिल्ली पुलिस के हाथ एक ऐसा फैक्स लगा है, जिसमें पेपर लीक से संबंधित जानकारी दी गई है. इस फैक्स में पेपर लीक मामले में रजिन्दर नगर के रहने वाले एक कोचिंग टीचर का हाथ बताया गया है, जो कोचिंग सेंटर चलाता है. वहीं इस मामले में कुछ स्कूलों पर भी शक की सूई घूम रही है.

यह भी पढ़ेंः 44 साल की मां 16 साल के बेटे के साथ दे रही हैं 10वीं की परीक्षा

पुलिस अधिकारी ने कहा कि सीबीएसई पेपर का लीक होना सिर्फ दिल्ली का नहीं बल्कि अखिल भारत का मुद्दा है, इसलिए बेहद गंभीरता से पेपर लीक की जांच हो रही है.

प्रकाश जावड़ेकर ने क्या कहा था

12वीं के इकोनॉमिक्स और 10वीं के मैथ्स का पेपर लीक होने पर केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि पेपर का कुछ हिस्सा व्हॉट्सऐप पर लीक हो गया था और हमने इसके खिलाफ पुलिस में शिकायत भी दर्ज करवा दी है. जांच जारी है और जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. हमने तय किया है कि अब पेपर बांटते समय भी पहले से ज्यादा सावधानी बरती जाएगी ताकि इस तरह की समस्या फिर न हो” जावड़ेकर ने कहा है कि छात्रों को घबराने की जरुरत नहीं है और किसी भी छात्र के साथ अन्याय नहीं होगा.