नई दिल्‍ली: इस बार 10वीं की बोर्ड परीक्षा देने वाले छात्रों को सेंट्रल बोर्ड ऑफर सेकंडरी एजुकेशन (CBSE) ने बड़ी राहत दी है. 10वीं परीक्षा में पास होने के लिए छात्र को जिस न्‍यूनतम अंक की जरुरत होती है,
उसमें अब इंटरनल असेसमेंट नंबर भी शामिल होंगे. यानी नये नियमों के तहत अब इंटरनल असेसमेंट के 20 और बोर्ड एग्जामिनेशन के 80 नंबर के हिसाब से कुल 100 अंकों की परीक्षा होगी. मंगलवार को यह नोटिफिकेशन जारी करते हुए सीबीएसई ने कहा कि नये नियम को इसी साल से लागू किया जाएगा.

यह भी पढ़ें: परीक्षा देने की योग्यता रखने वाले किसी छात्र का नहीं रोका जा सकता प्रवेश पत्र : सीबीएसई

बता दें कि इस साल 10वीं बोर्ड की परीक्षा 5 मार्च से शुरू हो रही है. इस परीक्षा को आठ साल के बाद अनिवार्य किया गया है. कॉम्‍प्रीहैंसिव एंड कॉटिन्‍यूवस इवैलुएशन (CCE) स्‍कीम के साथ इस बार ऑपशनल बोर्ड एग्‍जाम को भी लागू किया गया है.

यह भी पढ़ें: BOARD EXAMS: अगर लाने हैं अच्छे नंबर, तो अपनाएं टॉपर्स के ये टिप्स…

CBSE अध्‍यक्ष अनीता करवाल द्वारा नोटिफिकेशन के अनुसार एग्‍जामिनेशन कमेटी ने बैठक में यह तय किया है कि इस बार 10वीं के छात्रों को पासिंग मार्क्‍स में छूट दी जाए. क्‍योंकि बोर्ड लागू होने के बाद यह पहला बैच होगा. नये नियमों के तहत उन्‍हें किसी भी विषय में पास होने के लिए 33 प्रतिशत अंक की जरूरत होगी. इसमें इंटरनल असेसमेंट नंबर और बोर्ड एग्‍जाम नंबर दोनों शामिल होंगे. एडिशनल विषयों में पास होने के लिए भी यही नियम लोगू होंगे. यही नियम राष्ट्रीय कौशल योग्यता फ्रेमवर्क योजना के तहत परीक्षा देने वाले छात्रों के लिए भी लागू होंगे. वहीं वोकेशनल विषय के लिए इंटरनल एससमेंट के 50 नंबर आंके जाएंगे. अलग-अलग विषय में अलग से पास करने का नियम इस कोर्स पर लागू नहीं होगा.