नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने बुधवार को सीबीएसई पेपर लीक मामले में बवाना के मदर खजानी कॉन्वेंट स्कूल के प्राचार्य को गिरफ्तार कर लिया. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने इसकी जानकारी दी. प्रश्न – पत्र लीक करने में कथित संलिप्तता को लेकर इससे पहले भी इस स्कूल के दो शिक्षकों को गिरफ्तार किया जा चुका है. पुलिस उपायुक्त (अपराध) जी राम गोपाल नाइक ने स्कूल के प्राचार्य प्रवीण कुमार झा की गिरफ्तारी की पुष्टि की. केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने इस स्कूल की मान्यता रद्द कर दी थी. Also Read - पंजाब से हरियाणा, दिल्‍ली तक किसान मार्च की गूंज, पानी की बौछारें, आंसू गैस, लाठी चार्ज...पूरे हंगामें की खास Pics

एक अन्य अधिकारी ने बताया, ‘‘यह एक औपचारिक गिरफ्तारी थी. चूंकि वह अग्रिम जमानत पर है, इसलिए हमने उन्हें गिरफ्तार कर लिया और बाद में छोड़ दिया. जांच में यह पाया गया कि उन्हें अपने स्कूल के दो शिक्षकों द्वारा पेपर लीक किये जाने के बारे में जानकारी थी.’’ Also Read - Delhi Night Curfew Latest News: दिल्‍ली सरकार 3-4 दिन में रात के कर्फ्यू पर लेगी फैसला

पुलिस ने बताया कि सीबीएसई के प्रश्न पत्रों को लीक करने में कम से कम दो मॉड्यूल संलिप्त थे. गौरतलब है कि परीक्षा से पहले ही 12 वीं कक्षा के अर्थशास्त्र का प्रश्न पत्र और 10 वीं कक्षा के गणित का प्रश्न पत्र लीक हो गया था. Also Read - किसान विरोध प्रदर्शन: हरियाणा पुलिस की अपील, NH 10 और NH 44 पर यात्रा करने से बचें, हो सकती है मुश्किल

अप्रैल में हिमाचल प्रदेश के उना शहर में पुलिस ने दसवीं कक्षा के प्रश्न पत्र लीक के मामले में संलिप्त गिरोह का पर्दाफाश किया था और एक महिला समेत छह लोगों को गिरफ्तार किया था.
बवाना मॉड्यूल में एक निजी स्कूल के दो शिक्षकों समेत तीन व्यक्ति संलिप्त थे.

गौरतलब है कि 10 वीं कक्षा की गणित की परीक्षा और 12 वीं कक्षा की अर्थशास्त्र की परीक्षा क्रमश 28 मार्च और 26 मार्च को हुई थी. लीक की खबरों के बाद सीबीएसई ने अर्थशास्त्र का पेपर फिर से 25 अप्रैल को आयोजित करने का फैसला किया था. 12 वीं और 10 वीं बोर्ड परीक्षा का परिणाम क्रमश 26 और 29 मई को घोषित की गई.

(इनपुट: एजेंसी)