नई दिल्ली: सीबीएसई के 12वीं के इकोनॉमिक्स और 10वीं बोर्ड परीक्षा के मैथ्स के पेपर लीक होने के मामले में कांग्रेस पार्टी ने मानव संसाधान विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को पद से हटाने की मांग की है. पार्टी ने इसके अलावा सीबीएसई के चेयरमैन अनीता करवाल को भी बर्खास्त करने की मांग की है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा है कि इन दोनों को हटाए बिना मामले की निष्पक्ष जांच संभव नहीं है.

सुरजेवाला ने केंद्र सरकार को व्यापमं तथा एसएससी पेपर लीक मामले की याद दिलाते हुए कहा कि परीक्षाओं के क्वेश्चन पेपर लीक होने का सिलसिला चल रहा है. 2017 में 12वीं परीक्षा में मूलयांकन में भी गड़बड़ियां हुई थीं. उन्होंने सवाल किया कि ऐसे हालात के बावजूद सरकार ने दो साल तक सीबीएसई के चेयरमैन के पद पर नियुक्ति नहीं की.

दिल्ली स्कूल एसोसिएशन के अध्यक्ष रमेश चंद जैन ने भी इस मुद्दे पर सीबीएसई के चेयरमैन के आधिकारिक बयान की मांग की है. उन्होंने कहा कि सरकार को दोषियों के खिलाफ कार्रवाई तो करनी ही चाहिए, सिस्टम को ठीक करने का काम प्राथमिकता के आधार पर किया जाना चाहिए.


इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी ट्वीट के जरिए इस मामले में प्रधानमंत्री पर कटाक्ष किया था. वहीं मानव संसाधान विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि 16 लाख बच्चों को पेपर कैंसिल होने से वो भी उतने ही दुखी हैं क्योंकि वे भी अभिभावक हैं. उन्होंने दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का भरोसा भी दिलाया.