नई दिल्ली। CBSE पेपर लीक मामले में अब तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है. दिल्ली पुलिस के स्पेशल सीपी आर पी उपाध्याय ने कहा कि इस संबंध में दो केस दर्ज किए गए हैं और एसआई का गठन किया गया है. अब तक 25 लोगों से पूछताछ की गई है. दोनों पेपर एक्जाम से एक दिन पहले वाट्सऐप पर लीक किए गए. अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है. Also Read - CBSE, ICSE Board Exam 2021: परीक्षा 45 से 60 दिनों तक पोस्टपोन होने की है संभावना, जानिए क्या कहती है रिपोर्ट 

दिल्ली पुलिस ने कहा कि हमें सीबीएसई से पूरा सहयोग मिल रहा है. हम दिल्ली से बाहर टीम भेजने के लिए भी तैयार हैं. मामले की जांच जारी है. पेपर लीक के बदले पैसे लिए गए या नहीं ये अभी साफ नहीं है. दो पेपर लीक होने के अलावा किसी और पेपर के लीक होने की कोई खबर नहीं है. उन्होंने कहा कि हम पेपर लीक का ट्रेल ढूंढ़ने की कोशिश कर रहे हैं. एक प्राइवेट ट्यूटर का नाम इसमें आ रहा है और उससे पूछताछ भी की गई है.

नाराज छात्रों का प्रदर्शन

वहीं, 10वीं और 12वीं के छात्रों ने जंतर मंतर पर प्रदर्शन किया. छात्र सिर्फ दो पेपर रद्द करने से नाराज हैं. इनका कहना है कि आगे के भी पेपर लीक हुए हैं. अगर रद्द करना है तो सभी पेपर रद्द किए जाएं. एक छात्र ने ये भी दावा किया कि उसके पास एक दिन पहले ही मैथ्स का पेपर आ गया था. इसी तरह आगे के पेपर भी लीक हुए हैं. सभी पेपर रद्द किए जाएं.

CBSE पेपर लीकः बड़ा खुलासा, दिल्ली के कोचिंग मास्टर ने कराया था पेपर आउट

CBSE पेपर लीकः बड़ा खुलासा, दिल्ली के कोचिंग मास्टर ने कराया था पेपर आउट

नई तारीखों का ऐलान जल्द

बुधवार को सीबीएसई द्वारा जारी सर्कुलर के अनुसार 10वीं मैथ्स पेपर और 12वीं के इकोनॉमिक्स पेपर के लिए दोबारा परीक्षा कब आयोजित की जाएगी इसकी जानकारी CBSE की ऑफिशियल वेबसाइट पर जारी कर दिया जाएगा. बता दें कि इस मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद दखल देते हुए HRD मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को कड़े कदम उठाने को कहा है.

बता दें कि सीबीएसई ने 12वीं क्लास के इकोनॉमिक्‍स और 10वीं के मैथ्स के पेपर फिर से कराने का फैसला किया है. हालांकि सीबीएसई ने जानकारी नहीं दी है कि ये पेपर किस दिन कराए जाएंगे. सीबीएसई का कहना है कि एक हफ्ते में रि-एग्जाम से जुड़ी अन्य जानकारियां वेबसाइट पर जारी की जाएंगी.