नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की 10वीं क्लास का गणित का प्रश्नपत्र लीक करने में कथित संलिप्तता के आरोप में दो बैंक अधिकारियों और एक महिला को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किए गए तीनों आरोपियों की पहचान यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के शाखा प्रबंधक शेरू राम (35), बैंक के हेड कैशियर ओम प्रकाश (58) और 40 वर्षीय महिला के तौर पर हुई है. आरोप है कि महिला ने 12वीं कक्षा की इकोनॉमिक्स और 10वीं कक्षा की गणित विषय के हाथ से लिखे प्रश्नपत्र व्हाट्एसऐप के जरिए सोशल मीडिया पर वायरल किए थे. Also Read - Farmers Protest: 'दिल्ली चलो' एक महीने का राशन और पूरा रसोईघर लेकर विरोध करने निकले हैं किसान

पिछले हफ्ते अपराध शाखा ने राकेश कुमार, अमित शर्मा और अशोक कुमार को गिरफ्तार किया था. ये सभी डीएवी सेन्टेनरी पब्लिक स्कूल के कर्मचारी हैं. तीनों व्यक्तियों को इकोनॉमिक्स के पेपर लीक मामले में गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने बताया कि महिला पंजाब के फिरोजपुर की रहने वाली है, राकेश कुमार ने महिला को लीक पेपर की कॉपी कथित तौर पर भेजी थी. पुलिस ने बताया कि पीजीटी इकोनॉमिक्स के तौर पर आठ सालों से डीएवी स्कूल में पढ़ा रहे राकेश की संलिप्तता 28 मार्च को गणित की परीक्षा से पहले पेपर को लीक करने में पाई गई है. Also Read - Farmers Delhi Chalo Protest Singhu border Live: किले में तब्दील हुई दिल्ली, सिंघु बॉर्डर पर पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले

पुलिस ने बताया कि पूछताछ के दौरान उसने पेपरों को लीक करने में अपनी संलिप्तता को स्वीकार किया है. कक्षा 12वीं इकोनॉमिक्स का पेपर परीक्षा से तीन दिन पहले ऊना शहर में 23 मार्च को लीक हो गया था और इसे व्हाट्एसऐप पर कम से कम 40 ग्रुप में शेयर किया गया था. ऊना में राकेश जवाहर नवोदय पब्लिक स्कूल में केंद्र अधीक्षक था जहां सीबीएसई के पेपर हो रहे थे. अमित डीएवी स्कूल में क्लर्क था, जबकि अशोक फोर्थ क्लास कर्मचारी था. Also Read - Delhi-Gurugram Border: किसान मार्च और चेकिंग की वजह से दिल्ली-गुरुग्राम बॉर्डर पर लगा लंबा जाम, इन रास्तों में जानें से बचें

(इनपुट:पीटीआई)