नई दिल्लीः सीबीएसई पेपर लीक मामले में केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने गुरुवार को कहा कि यह एक एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है. 16 लाख बच्चों का पेपर कैंसल हुआ है. मैं बच्चों और उनके माता-पिता के दर्द को समझ सकता हूं. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मैं भी एक अभिभावक हूं. मुझे रातभर नींद नहीं आई. उन्होंने आश्वस्त किया कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी. उन्होंने कहा कि पेपर लीक मामले से सीबीएसई की छवि को नुकसान पहुंचा है. उन्होंने कहा कि निर्दोष बच्चों को इसकी सजा नहीं मिलनी चाहिए लेकिन सिस्टम को तोड़ा गया है.Also Read - प्रशांत किशोर ने कहा- BJP दशकों तक मजबूत रहेगी, नरेंद्र मोदी की ताकत समझें राहुल गांधी

Also Read - Gandhi Maidan Blast case: NIA कोर्ट ने 10 में से 9 आरोपियों को दोषी करार दिया, 1 बरी; सजा पर फैसला नवंबर में

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस मामले को गंभीरता से लिया है. दोबरा इस तरह से पेपर लीक न हो इसके लिए सिस्टम में सुधार किया जाएगा. उन्होंने कहा कि परीक्षा व्यवस्था को भी सुधारा जाएगा. पेपर लीक होने के बाद और फिर से एग्जाम कराने के सीबीएसई के फैसले के बाद बुधवार को उन्होंने कहा था कि पेपर का कुछ हिस्सा व्हॉट्सऐप पर लीक हो गया था और हमने इसके खिलाफ पुलिस में शिकायत भी दर्ज करवा दी है. Also Read - जी-20 शिखर सम्मेलन 30 अक्टूबर को, पीएम मोदी अफगान संकट पर कर सकते हैं ये आह्वान

जांच जारी है और जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. हमने तय किया है कि अब पेपर बांटते समय भी पहले से ज्यादा सावधानी बरती जाएगी ताकि इस तरह की समस्या फिर न हो” जावड़ेकर ने कहा है कि छात्रों को घबराने की जरूरत नहीं है और किसी भी छात्र के साथ अन्याय नहीं होगा.

जंतर मंतर पर प्रदर्शन
इस बीच गुरुवार को स्टूडेंट्स और पैरंट्स जंतर-मंतर पर सीबीएसई के फैसले के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं. प्रदर्शन कर रहे छात्रों और पैरंट्स का कहना है कि या तो सभी विषयों की परीक्षा फिर से होनी चाहिए या फिर किसी भी विषय की नहीं. पैरंट्स का कहना है कि परीक्षा के लिए बच्चों के ऊपर मनोवैज्ञानिक दबाव होता है, जिन बच्चों ने पूरी मेहनत और ईमानदारी से परीक्षा दी उन्हें भी फिर से परीक्षा के तनाव से गुजरना होगा.

सीबीएसई के 12वीं के इकोनॉमिक्स और 10वीं के मैथ्स के पेपर लीक होने की घटना पर पीएम मोदी ने सख्त नाराजगी जताई थी. पीएम मोदी ने इस मामले में केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से बात कर नाराजगी जताई थी. पीएम मोदी ने जावड़ेकर को इस मामले में दोषियों पर सख्त एक्शन लेने को कहा है.