नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्य सचिव से कथित मारपीट मामले में आम आदमी पार्टी के दो विधायको प्रकाश जारवाल और अमानतुल्ला खान को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में लेने के बाद दिल्ली पुलिस आगे की जांच के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर पहुंची. जांच के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर पहुंची दिल्ली पुलिस के मुताबिक, केजरीवाल के आवास पर लगे 21 सीसीटीवी कैमरों में से सिर्फ 14 कैमरे ही काम कर रहे थे और बाकी के 7 कैमरे बंद पड़े थे. पुलिस के मुताबिक जिस कमरे में घटना हुई है वहां कोई कैमरा नहीं लगा था और जितने भी कैमरे लगे थे वो भी समय से 40 मिनट पीछे चल रहे थे. पुलिस ने 21 सीसीटीवी कैमरों की रिकॉर्डिंग और हार्ड डिस्क को जब्त कर लिया है.

दिल्ली पुलिस के अपने घर पहुंचने पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि ”जितनी शिद्दत से इस मामले की जांच हो रही है, मुझे इसकी खुशी है होनी चाहिए लेकिन मैं जांच एजेंसी से कहना चाहता हूं कि जज लोया के कत्ल की जांच पर अमित शाह से पूछताछ करने की भी हिम्म्त दिखाएं तो देश उनको बधाई देगा”.

इससे पहले ‘आप’ नेता आशुतोष ने दिल्ली पुलिस पर पक्षपात होकर कार्रवाई करने का आरोप लगाते हुए कहा कि राजनाथ सिंह के आवास के सामने प्रदर्शन का प्रयास कर रहे हमारे विधायकों को पुलिस ले गई जबकि उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के आवास के सामने प्रदर्शन करने वाले बीजेपी के कार्यकर्ताओं के खिलाफ कोई भी कार्रवाई नहीं की गई. आम आदमी पार्टी ने यह भी आरोप लगाया था कि दिल्ली पुलिस ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सलाहकार वीके जैन पर बयान बदलने का दबाव बनाया है.

ये भी पढ़ें- राजनाथ सिंह के आवास के बाहर प्रदर्शन करने पर आप मंत्री, विधायक हिरासत में

आप के वरिष्ठ नेता आशुतोष और संजय सिंह ने दावा किया है कि यह दिल्ली में आप सरकार को अस्थिर करने की एक चाल है. आशुतोष ने उप राज्यपाल अनिल बैजल पर भी निशाना साधा और उन्हें ‘बीजेपी का एजेंट’ करार दिया. उन्होंने आरोप लगाया कि मंत्री इमरान हुसैन और दिल्ली डायलॉग आयोग के उपाध्यक्ष आशीष खेतान पर हमले की शिकायत करने और इसके सबूत मुहैया कराए जाने के बावजूद उन्होंने कार्रवाई नहीं की.

ये भी पढ़ें- केजरीवाल के सलाहकार वीके जैन ने कोर्ट में कहा, सीएम के सामने हुई मुख्य सचिव से मारपीट

इससे पहले दिल्ली की तीस हजारी अदालत ने आप विधायकों अमानतुल्ला खान और प्रकाश जारवाल को 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेज दिया. बुधवार को इनकी जमानत याचिका पर सुनवाई एक दिन के लिए टल गई थी. गुरुवार को सुनवाई के दौरान कोर्ट ने इन्हें जमानत देने से इनकार करते हुए 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया. प्रकाश जारवाल को मंगलवार रात जबकि अमानतुल्ला खान को बुधवार को गिरफ्तार किया गया था. इन दोनों पर मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से मारपीट का आरोप है.