CCTV Footage of ruckus by Opposition MPs in Parliament on 11th August: संसद (Parliament )  में कल बुधवार को विपक्षी दलों के सांसदों ( Opposition MPs)  के मार्शलों (Marshals ) के बीच हुई धक्‍कामुक्‍की और मारपीट का सीसीटीवी फुटेट (CCTV Footage) आज गुरुवार को सामने सामने आया है. बता दें कि कल विपक्षी दलों के नेताओं ने उच्‍च सदन  (Rajya Sabha) में विरोध प्रदर्शन के दौरान वहां मौजूद कुछ महिला सुरक्षाकर्मियों पर विपक्ष की महिला सदस्यों के साथ धक्कामुक्की करने और उनको अपमानित करने का आरोप लगाया था. संसद के सदन में जो कुछ हुआ, वह वाकया सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया है, जिसके फुटेज का वीडियो आज गुरुवार को सामने आया है. वहीं, केंद्र सरकार के मंत्री ने अनुराग ठाकुर ने कहा है,  विपक्ष घड़ियाली आंसू बहाने की बजाय देश से माफी मांगे. वहीं, बीजेपी प्रवक्‍ता संबित पात्र ने कहा- संसद के इतिहास में पहली बार हुआ है कि लॉबी में कांच का गेट तोड़ दिया गया, जिससे एक सुरक्षाकर्मी भी हताहत हुई है. वो भी अस्पताल में है.Also Read - फिर से कांग्रेस अध्यक्ष बन सकते हैं राहुल गांधी, CWC की बैठक में बोले- नेताओं ने दबाव बनाया तो विचार करूंगा

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा, पीएम ने नए मंत्रियों से कहा था कि वे राज्यसभा जाएं और गुणवत्तापूर्ण बहसें सुनें. लेकिन हमें उनसे फीडबैक मिला कि टेबल किस लिए हैं- डांस करने के लिए या टेबल्स का कोई और मकसद है? क्या मंत्रियों को इस राज्यसभा में आने के लिए कहा गया था, जहां लोकतंत्र का अपमान किया गया था? Also Read - PM मोदी पांच नवंबर को केदारनाथ जाएंगे, 250 करोड़ रुपए की केदारपुरी परियोजना शुरू करेंगे

Also Read - देश में जनसंख्या असंतुलन बड़ी समस्या, 50 साल के लिए नीति बने: RSS चीफ मोहन भागवत

इस मामले पर राज्‍यसभा में विपक्ष के नेता व कांग्रेस सांसद मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, ”जो सरकार कहती है अगर आप उसी को सच मान लें तो ठीक है. हम तो वहां देखे हैं, राज्यसभा के सभी सदस्यों ने देखा है. फुटेज को आप क्या-क्या कर सकते हैं सबको मालूम है. वहां फोर्स आई कैसे? इतने नॉर्मल मार्शल्स तो वहां नहीं थे और इतनी महिलाएं भी नहीं थीं.”

केंद्रीय मंत्री ठाकुर बोले- घड़ियाली आंसू बहाने के बजाय देश से माफी मांगे विपक्ष
केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा, ”लोग संसद में अपने मुद्दों को उठाए जाने का इंतजार करते हैं. जबकि अराजकता विपक्ष का एजेंडा रहा. उन्हें लोगों, करदाताओं के पैसे की परवाह नहीं थी. जो हुआ वह निंदनीय था. घड़ियाली आंसू बहाने के बजाय देश से माफी मांगे.

 टेबल्स का कोई और मकसद है  या डांस करने के लिए?
अनुराग ठाकुर ने कहा, पीएम ने नए मंत्रियों से कहा था कि वे राज्यसभा जाएं और गुणवत्तापूर्ण बहसें सुनें. लेकिन हमें उनसे फीडबैक मिला कि टेबल किस लिए हैं- डांस करने के लिए या टेबल्स का कोई और मकसद है? क्या मंत्रियों को इस राज्यसभा में आने के लिए कहा गया था, जहां लोकतंत्र का अपमान किया गया था?

मैं माफी क्यों मांगूंगी? कांग्रेस सांसद
कांग्रेस सांसद छाया वर्मा ने कहा, ” उच्च सदन में कल की घटना के दौरान हमारा एक सांसद घायल हो गया. उनके साथ मारपीट की गई. पीयूष गोयल से पूछें कि सदन में इतने मार्शल तैनात करने का क्या मतलब है. मैं माफी क्यों मांगूंगी?

राहुल बोले – राज्यसभा में पहली बार सांसदों की पिटाई की गई
देश की राजधानी में आज गुरुवार को कांग्रेस समेत अन्‍य विपक्ष दलों के नेताओं ने सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया. इस दौरान राहुल गांधी ने यह भी कहा, राज्यसभा में पहली बार सांसदों की पिटाई की गई, बाहर से लोगों को बुलाकर और नीली वर्दी में डालकर सांसदों से मारपीट की गई.

राहुल गांधी ने कहा, हमने सरकार से पेगासस पर बहस करने के लिए कहा, लेकिन सरकार ने पेगासस पर बहस करने से मना कर दिया. हमने संसद के बाहर किसानों का मुद्दा उठाया और हम आज यहां आपसे (मीडिया) बात करने आए हैं, क्योंकि हमें संसद के अंदर नहीं बोलने दिया गया. ये देश के लोकतंत्र की हत्या है.

बीजेपी प्रवक्‍ता बोले- एक सुरक्षाकर्मी भी हताहत हुई है, वो भी अस्पताल में है
बीजेपी प्रवक्‍ता संबित पात्रा ने कहा, ”जिस प्रकार का व्यवहार आज कांग्रेस पार्टी और कुछ अन्य विपक्षी पार्टियां सड़क पर उतरकर कर रही हैं. जिस प्रकार अराजकता संसद के अंदर विपक्षी पार्टियों और खासकर राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी ने दिखाया है, उससे पूरा देश और लोकतंत्र शर्मसार हुआ है. पात्रा ने कहा, संसद के इतिहास में पहली बार हुआ है कि लॉबी में कांच का गेट तोड़ दिया गया, जिससे एक सुरक्षाकर्मी भी हताहत हुई है. वो भी अस्पताल में है. ये वही विपक्षी हैं, जो कह रहे थे कि संसद का एक विशेष सत्र बुलाना चाहिए मगर जब सत्र चल रहा था, कोरोना पर एक दिन भी चर्चा नहीं होने दी.

विपक्ष के 15 दलों के नेताओं ने आज सभापति वेंकैया नायडू से मुलाकात की
विपक्षी दलों के नेताओं ने राज्यसभा में कल की घटना से अवगत कराने के लिए सभापति एम. वेंकैया नायडू से मुलाकात की. कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, हम 15 पार्टियों के सभी नेता राज्यसभा के सभापति से मिले और एक ज्ञापन दिया. सभी पार्टियों के नेताओं और वरिष्ठ नेता शरद पवार ने भी जो सदन में जो घटनाएं घटीं उसके बारे में बताया. हम धन्यवाद करते हैं कि उन्होंने हमारी बात सुनी और समझा.

कांग्रेस नेता ने विपक्ष की महिला सांसदों से धक्कामुक्की करने का आरोप कल लगाया था
बता दें कि राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने बुधवार को आरोप लगाया कि सदन में विरोध प्रदर्शन के दौरान वहां मौजूद कुछ महिला सुरक्षाकर्मियों ने विपक्ष की महिला सदस्यों के साथ धक्कामुक्की की और उनका अपमान किया. हालांकि सरकार ने उनके आरोप को यह कहते हुए खारिज कर दिया कि यह सत्य से परे है.

महिला सांसदों पर सदन के भीतर हमला किया गया: शरद पवार 
राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार ने भी संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि उन्होंने अपने 55 साल की संसदीय राजनीति में ऐसे स्थिति नहीं देखी कि महिला सांसदों पर सदन के भीतर हमला किया गया हो.