जम्मूः भारत ने नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान की ओर से किए गए सीज फायर के उल्लंघन का करारा जवाब दिया है. राजौरी और पुंछ जिले के सीमावर्ती इलाकों को निशाना बनाते हुए पाकिस्तानी सैनिक गोलीबारी कर रहे थे. इसका कड़ा जवाब देते हुए भारतीय सैनिकों ने नियंत्रण रेखा से लगी पाकिस्तान की सात चौकियां तबाह कर दी. सेना ने बताया कि इस जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान सेना के कई जवान हताहत हुए हैं.

पाकिस्तानी गोलीबारी के मद्देजनर एहतियाती तौर पर पुंछ और राजौरी जिले में सीमा से लगे स्कूलों को अधिकारियों ने बंद कर दिया है. अधिकारियों ने बताया कि पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर पाकिस्तानी सेना की ओर से सोमवार को की गयी भारी गोलाबारी में बीएसएफ के एक इंस्पेक्टर शहीद हो गए और पांच साल की एक बच्ची सहित दो असैन्य लोगों की जान चली गई. इस गोलाबारी में 24 अन्य लोग घायल भी हुए थे. भारतीय सेना ने भी इसका मुंहतोड़ जवाब दिया था. उन्होंने बताया कि राजौरी जिले के नौशेरा सेक्टर और पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा के पास मंगलवार सुबह तक भारी गोलाबारी एवं गोलीबारी जारी थी.

अधिकारियों ने बताया कि पुंछ और नौशेरा में शाहपुर उप-क्षेत्र में मंगलवार को भी पाकिस्तानी सैनिकों ने गोलाबारी और गोलीबारी की. भारत ने जवाबी कार्रवाई में ‘पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर’ में रखचिकरी और रावलाकोट में नियंत्रण रेखा के पास सात चौकियों को तबाह कर दिया. इस बीच, पाकिस्तान के ‘इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस’ (आईएसपीआर) ने बताया कि मंगलवार को नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास भारतीय सेना की कार्रवाई में उसके तीन सैनिक मारे गए.

उन्होंने बताया कि पाकिस्तान भारी हथियारों और 120एमएम के मोर्टार गोलों का इस्तेमाल पुंछ में असैन्य नागरिकों को निशाना बनाने के लिए कर रहा है, जिससे ग्रामीणों में तनाव फैला हुआ है. अधिकारियों ने बताया कि पाकिस्तान की ओर से जारी गोलाबारी के मद्देनजर लोगों को घरों में रहने की सलाह दी गई है.