नए साल में केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स के लिए बड़ी खुशखबरी है. उन्हें 2021 में महंगाई भत्ता चार प्रतिशत बढ़कर मिलने की उम्मीद है. कर्मचारियों और पेंशनर्स को मौजूदा समय तक जुलाई 2020 से सात प्रतिशत का महंगाई भत्ता दिया जा रहा है. लेकिन, वह अभी नहीं मिल पा रहा है. केंद्रस सरकार की तरफ से अब महंगाई भत्ते में जनवरी 2021 में चार प्रतिशत की वृद्धि होने की संभावना है, जिससे देशभर के करीब डेढ़ करोड़ केंद्रीय कर्मचारी व पेंशनर्स को लाभ मिलेगा. यह लाभ विभिन्न राज्य सरकार के कर्मचारियों व पेंशनरों को भी मिलेगा.Also Read - 7th Pay Commission: नए साल से पहले सरकारी कर्मचारियों को बड़ा तोहफा, राज्य सरकारें भी कर रही हैं वेतन में बढ़ोतरी

बता दें कि केंद्र सरकार के श्रम मंत्रालय की ओर से लेबर ब्यूरो शिमला की ओर से हर माह महंगाई का औसत निकालकर सूचकांक जारी किया जाता है और उसी के आधार पर केंद्र सरकार के कर्मचारियों व पेंशनर्स का साल में दो बार जनवरी व जुलाई माह में महंगाई भत्ता तय किया जाता है. यह महंगाई भत्ता पिछले 12 माह के औद्योगिक श्रमिकों के लिए उपभोक्ता मूल्य सूचकांक के आधार पर तय होता है और इसके आधार पर पिछले 12 माह के औसत पर गणना की जाती है. Also Read - Farm Bill Repeal Latest Update: बड़ी खुशखबरी-बुधवार को वापस लिए जाएंगे कृषि कानून! मोदी कैबिनेट देगी मंजूरी

यदि आधार वर्ष 2001 के अनुसार दिसंबर 2020 के उपभोक्ता मूल्य सूचकांक में आठ अंकों की कमी होती तो महंगाई तीन प्रतिशत और सूचकांक में 24 अंकों की वृद्धि होने पर महंगाई भत्ता पांच प्रतिशत देय होगा. लेकिन, किसी एक माह में इतनी कमी या वृद्धि संभव नहीं है. इस कारण  महंगाई भत्ता चार प्रतिशत ही देय होगा. Also Read - Delhi Pollution को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने जताई नाराजगी, कहा-ब्यूरोक्रैट्स इसके लिए कुछ करना ही नहीं चाहते...

बताया गया है कि दिसंबर 2020 का सूचकांक एक माह बाद जारी होगा और सितंबर 2020 से औद्योगिक श्रमिकों के लिए 2016 का नया आधार वर्ष लागू किया गया है. नए आधार पर जारी सूचकांक में 2.88 से गुणा करके पुराने सूचकांक में बदलकर महंगाई भत्ता की गणना की जाती है. इस महंगाई भत्ता से केंद्र सरकार के कर्मचारी व पेंशनर तथा यूपी सहित विभिन्न राज्यों के कर्मचारी व पेंशनर लाभांवित होते हैं।