नई दिल्ली: केंद्र सरकार की ओर से किए गए तमाम प्रयासों के बावजूद उपभोक्ताओं को सस्ती दरों पर प्याज नहीं मिल रहा है. हालांकि देश में प्याज की उपलब्धता बढ़ाने और इसकी कीमतों को नियंत्रण में रखने को लेकर सरकार लगातार प्रयासरत है, लेकिन प्याज का दाम कब कम होगा, इस संबंध में सरकार के पास कोई जवाब नहीं है. देश की राजधानी दिल्ली में उपभोक्ता इस समय 60-80 रुपये किलो प्याज खरीद रहे हैं.

प्याज की कीमतों को नियंत्रण में रखने को लेकर केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री राम विलास पासवान ने बुधवार को प्याज पर लगाई गई स्टॉक लिमिट को अगले आदेश तक बढ़ाने का निर्देश दिया. सरकार ने 30 सितंबर को प्याज पर स्टॉक लिमिट लगाई थी जिसके अनुसार, खुदरा कारोबारियों के लिए 100 क्विंटल और थोक कारोबारियों के लिए 500 क्विंटल प्याज रखने की अधिकतम सीमा निर्धारित की गई थी. इसकी समय सीमा 30 नवंबर को समाप्त हो रही थी, मगर अब अगले आदेश तक जारी रहेगी. केंद्रीय उपभोक्ता मंत्रालय ने सभी राज्यों के सचिवों को पत्र लिखकर स्टॉक लिमिट की इस सीमा को आवश्यकतानुसार और घटाने और इसे सख्ती से लागू करने को कहा है ताकि बाजार में प्याज की उपलब्धता बढ़ाकर कीमतों को नियंत्रण में रखा जाए.

प्याज की माला पहनकर बिहार विधानसभा पहुंचे RJD विधायक, कहा- गरीबों को 10 रुपये में दें प्याज

बेमौसम बारिश से देश में प्याज के उत्पादन में गिरावट
पासवान ने यहां एक प्रेसवार्ता में कहा कि आरंभ में मानसून में विलंब होने और बाद में बेमौसम बरसात होने से देश में प्याज के उत्पादन में 26 फीसदी की गिरावट आई. उन्होंने कहा कि राज्य सरकारों की ओर से मांग नहीं आने के कारण बफर स्टॉक में रखा काफी प्याज खराब हो गया. मंत्रालय की ओर से बताए आंकड़े के अनुसार, सरकार ने पिछले दिनों बफर स्टॉक से करीब 57,000 टन प्याज बाजार में उतारा. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि तुर्की, हॉलैंड और मिस्र से प्याज मंगाने की कोशिश जारी है.

देश की आर्थिक स्थिति धीमी, मंदी के हालात नहीं, उठाए जा रहे जरूरी कदम: वित्तमंत्री

सात ट्रक अफगानिस्तानी प्याज आया
मंत्रालय ने सोमवार को बताया था कि विदेश व्यापार करने वाली सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी एमएमटीसी ने मिस्र से 6,090 टन प्याज के आयात का अनुबंध किया है और प्याज की यह खेप दिसंबर के पहले सप्ताह में आने वाली है. सरकार ने कुल 1.2 लाख टन प्याज आयात करने का फैसला लिया है. बाजार सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, बुधवार को दिल्ली के आजादपुर मंडी में अफगानिस्तानी प्याज की आवक बढ़ी. एक दिन पहले जहां एक ट्रक प्याज दिल्ली में उतरा था वहां बुधवार को सात ट्रक अफगानिस्तानी प्याज आया.