नई दिल्ली. भारत-चीन के बीच सीमा विवाद को लेकर उपजे तनाव के बीच केंद्र सरकार ने सर्वदलीय बैठक बुलाई है. सीमा पर हालात को लेकर सरकार शुक्रवार को सभी दलों से जानकारी साझा करेगी. विदेश मंत्रालय की तरफ से इस बैठक का आयोजन किया गया है. बैठक में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज हालात के बारे में ताजा अपडेट देंगी.

बता दें कि डोकलाम, डोका ला या फिर डोंगयोंग में इन दिनों भारत और चीन के बीच सीमा विवाद को लेकर कुछ तनाव चल रहा है. ये तीनों नाम एक ही जगह के हैं. दोनों देश के सैनिक आपस में नॉन कैबेटिव मोड में भिड़ भी चुके हैं. चीन भी स्थिति पर साफ कह चुका है कि इस पूरे मुद्दे पर बातचीत तभी संभव है जब भारत अपने सैनिक पीछे करेगा. हालांकि भारतीय सेना ने इलाके में तंबू गाड़कर लंबे वक्त तक टिके रहने का इशारा कर दिया है.

इस बीच अमेरिका के दो शीर्ष परमाणु विशेषज्ञों का कहना है कि भारत अपने परमाणु हथियारों के ज़खीरे को लगातार आधुनिक बनाता जा रहा है, और परंपरागत रूप से पाकिस्तान को ध्यान में रखकर परमाणु नीति बनाने वाले इस देश का ध्यान अब चीन की तरफ ज़्यादा है.

अमेरिका के दो वरिष्ठ परमाणु विशेषज्ञों ने कहा है कि भारत चीन को ध्यान में रखते हुए अपने परमाणु शस्त्रागार और देश की परमाणु रणनीति का लगातार आधुनिकीकरण कर रहा है. पहले इसका ध्यान पाकिस्तान पर केन्द्रित था लेकिन अब प्रतीत होता है कि इसका जोर कम्युनिस्ट देश की ओर ज्यादा है.ऑनलाइन पत्रिका ‘आफटर मिडनाइट’ के जुलाई अगस्त अंक में प्रकाशित इस लेख में यह भी दावा किया गया है कि भारत अब एक ऐसी मिसाइल बना रहा है जो कि दक्षिण भारत के अपने बेस से पूरे चीन को निशाना बना सकती हैं.