नई दिल्ली/लखनऊ. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को गाजीपुर और वाराणसी के दौरे पर हैं. इस दौरान वह वह एक मेडिकल कालेज की आधारशिला रखेंगे. वह महाराज सुहेलदेव पर एक डाक टिकट जारी करेंगे और आरटीआई मैदान पर जनसभा करेंगे. लेकिन पीएम मोदी के दौरे से पहले एनडीए में रार दिख रहा है. दरअसल, पहले यूपी सरकार में मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने जहां कार्यक्रम का बायकट किया था, वहीं केंद्रीयमंत्री अनुप्रिया पटेल की पार्टी अपना दल (एस) ने भी कार्यक्रम में जाने से इनकार कर दिया है.

केंद्र में मंत्री और एनडीए में सहयोगी अपना दल (एस) उत्तर प्रदेश सरकार से सहयोग नहीं मिलने की शिकायत की है. पार्टी अध्यक्ष आशीष पटेल ने पार्टी की उपेक्षा का आरोप लगाकर सरकार को घेरा है. उनका कहना है कि उनकी पार्टी की अनदेखी हो रही है. उन्होंने कहा कि पार्टी के लोग प्रदेश सरकार के किसी भी कार्यक्रम में नहीं जाएंगे.

ओमप्रकाश राजभर ने लगाया है आरोप
बता दें इससे पहले ओम प्रकाश राजभर ने आरोप लगाया है कि उनको भेजे गए आमंत्रण पत्र में महाराजा सुहेलदेव का नाम अधूरा है. उनका आरोप है कि उनके नाम के साथ राजभर को जानबूझकर हटा दिया गया है. ऐसे में उनकी पार्टी गाजीपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम का बायकॉट करेंगे.

वाराणसी का भी है कार्यक्रम
वाराणसी में वह ‘राष्ट्रीय बीज अनुसंधान एवं प्रशिक्षण केन्द्र‘ के परिसर में ‘अंतरराष्ट्रीय चावल अनुसंधान संस्थान’ और ‘दक्षिण एशिया क्षेत्रीय केन्द्र’ को राष्ट्र को समर्पित करेंगे. सरकारी विज्ञप्ति में बताया गया कि चावल अनुसंधान संस्थान दक्षिण एशिया और दक्षेस देशों में चावल के अनुसंधान एवं प्रशिक्षण का प्रमुख केंद्र बनेगा. मोदी पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं, जो नवंबर 2017 में अंतरराष्ट्रीय चावल अनुसंधान संस्थान के फिलीपीन स्थित मुख्यालय गए. मोदी दीनदयाल हस्तकला संकुल में ‘वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट’ क्षेत्रीय शिखर सम्मेलन में भी हिस्सा लेंगे. दिल्ली रवाना होने से पहले वह बुनकरों और हस्तशिल्पियों से मुलाकात करेंगे.