Centre Invites Ladakh and Kargil Leaders जम्मू-कश्मीर की पार्टियों के साथ पीएम मोदी की बैठक के ठीक दो दिन बाद, केंद्र ने शनिवार को कारगिल और लद्दाख से पार्टियों और सिविल सोसायटी के सदस्यों को बातचीत के लिए आमंत्रित किया है. न्यूज 18 की पोर्ट के अनुसार, 1 जुलाई को सुबह 11 बजे होने वाली इस बैठक की अध्यक्षता गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी करेंगे.Also Read - NDA की राष्ट्रपति उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू ने दाखिल किया नामांकन, देखें लाइव वीडियो

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को जम्मू-कश्मीर के शीर्ष राजनीतिक नेताओं के साथ बातचीत की थी और उन्हें बताया कि केंद्र की प्राथमिकता वहां जमीनी स्तर पर लोकतंत्र को मजबूत करना है, जिसके लिए चुनाव होने के लिए परिसीमन जल्दी होना है. Also Read - राष्ट्रपति चुनाव 2022: राष्ट्रपति बनीं तो नया इतिहास रचेंगी द्रौपदी मुर्मू, नामांकन के बाद सोनिया,ममता, पवार से की बात

गौरतलब है कि 5 अगस्त, 2019 को विशेष दर्जा समाप्त करने के बाद तत्कालीन जम्मू कश्मीर राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू कश्मीर और लद्दाख में विभाजित कर दिया गया था. शनिवार को होने वाली यह बैठक केंद्रीय राज्य गृह मंत्री जी. किशन रेड्डी की अगुवाई में उनके आवास पर 1 जुलाई को सुबह 11 बजे होगी. Also Read - जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाईवे समेत कई मार्ग बंद, जम्मू-कश्मीर में बारिश और भूस्खलन से जनजीवन प्रभावित

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर में जारी परिसीमन प्रक्रिया तेज गति से पूरी होनी है ताकि वहां विधानसभा चुनाव कराए जा सकें और एक निर्वाचित सरकार का गठन हो सके जो प्रदेश के विकास को मजबूती दे.

सूत्रों के अनुसार जम्मू-कश्मीर के 14 राजनीतिक दलों के नेताओं के साथ साढ़े तीन घंटे की बैठक के दौरान प्रधानमंत्री ने इसमें शामिल नेताओं को कश्मीर में हर मौत की घटना पर अपना व्यक्तिगत दुख व्यक्त किया, चाहे वह निर्दोष नागरिक की हो, किसी कश्मीरी लड़के की जिसने बंदूक उठाई थी या सुरक्षा बलों के किसी सदस्य की.

मोदी ने बैठक के बाद कई ट्वीट करके कहा कि विचार-विमर्श एक विकसित और प्रगतिशील जम्मू-कश्मीर की दिशा में चल रहे प्रयासों में एक महत्वपूर्ण कदम था, जहां सर्वांगीण विकास को आगे बढ़ाया गया है.

(इनपुट भाषा)