Chakka Jam in Delhi: आज शनिवार को कृषि कानूनों के विरोध में किसानों ने देशभर में चक्का जाम की घोषणा की थी. तीन घंटे तक चलने वाले चक्का जाम को दिल्ली, यूपी और उत्तराखंड में किसानों द्वारा स्थगित कर दिया गया था. राष्ट्रीय राजधानी में किसानों के चक्का जाम न करने के बावजूद पुलिस प्रशासन की तरफ से आज संवेदनशील इलाकों सहित पूरे दिल्ली में सुरक्षा व्यवस्था के कड़े इंतजाम किए गए थे. इस बात की जानकारी दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी ने दी. Also Read - Haryana Reservation News: हरियाणा में प्राइवेट सेक्टर की 75% नौकरियां राज्य के युवाओं के लिए आरक्षित, जानें पूरी खबर

दिल्ली पुलिस की तरफ से कहा गया कि किसानों के द्वारा दिल्ली में चक्का जाम न करने की बात कही गई लेकिन 26 जनवरी की हिंसा से सबक लेते हुए पुलिस की तरफ से सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए. दिल्ली पुलिस के पीआरओ चिन्मय बिस्वाल ने जानकारी देते हुए कहा कि दिल्ली के सीमावर्ती इलाकों में जहां किसान भारी मात्रा में आज इकट्ठे हुए थे वहां भारी मात्रा में किसानों की तैनाती की गई है. Also Read - Hathras Murder Case: CM Yogi ने हत्‍या के सभी आरोपियों पर NSA लगाने के निर्देश दिए

उन्होंने कहा कि हमारे पास कुछ ऐसे इनपुट थे कि कुछ जगहों पर कुछ लोग घटनाओं को अंजाम दे सकते हैं वहां लोगों की सुरक्षा के लिए निरोधक भी लगाए गए हैं. उन्होंने बताया कि कुछ लोग शहीदी पार्क पहुंचे हुए थे जिन्हें वापस कर दिया गया. एक जानकारी के अनुसार प्रदर्शन करने के लिए शनिवार को मध्य दिल्ली के शहीदी पार्क के पास 50 व्यक्तियों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया. Also Read - Sharjah से Lucknow आ रही IndiGo flight कराची में हुई लैंड, लेकिन यात्री की नहीं बच सकी जान

तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान संगठनों के समूह संयुक्त किसान मोर्चा ने शुक्रवार को कहा कि ‘चक्का जाम’ के दौरान प्रदर्शनकारी दिल्ली, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में सड़कों को अवरुद्ध नहीं करेंगे. मोर्चा ने साथ ही यह भी कहा था कि प्रदर्शनकारी देश में दोपहर 12 बजे से अपराह्न तीन बजे के बीच तीन घंटे के लिए राष्ट्रीय और राज्य राजमार्गों को अवरुद्ध करेंगे लेकिन शांतिपूर्ण तरीके से.

दिल्ली पुलिस ने दिल्ली के सभी सीमा बिंदुओं पर सुरक्षा बढ़ा दी है. अर्धसैनिक बलों सहित हजारों कर्मियों को ‘चक्का जाम’ से उत्पन्न होने वाली किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैनात किया गया है. गणतंत्र दिवस पर हिंसा के बाद, दिल्ली पुलिस ने अतिरिक्त उपाय किये हैं, जिसमें सुरक्षा कड़ी निगरानी शामिल है.