चंडीगढ़ : अंडर ग्रेजुएट कोर्स में एडमिलेशन लेने जा रहे छात्रों के लिए अच्छी खबर है. पिछले साल पंजाब यूनिवर्सिटी में एडमिशन प्रक्रिया ऑनलाइन  शुरू होने के बाद अब इस साल से चंडीगढ़ के 11 कॉलेजों में भी एडमिशन प्रोसेस ऑनलाइन ही होने वाला है. जुलाई 2018 से चंडीगढ़ कॉलेजों में शुरू होने वाले एकेडमिक सेशन में किसी भी कोर्स के लिए काउंसलिंग नहीं होगी. छात्रों को सिर्फ फीस जमा करने के लिए आना होगा और उसी दौरान दस्तावेजों की जांच-परख होगी.

इस साल एडमिशन प्रक्रियाओं में काफी बदलाव किए गए हैं. साइंस, आर्ट्स या कॉमर्स किसी भी विषय में एडमिशन लेने वाले छात्रों को दस्तावेज जमा करने के लिए होने वाली काउंसलिंग के लिए कॉलेज में उपस्थित रहने की जरूरत नहीं है. इस बार प्रोस्पेक्टस खरीदने से लेकर एडमिशन की सभी प्रक्रियाएं ऑनलाइन ही पूरी की जाएंगी.

उच्च शिक्षा के निदेशक राकेश कुमार पोपली ने बताया कि हम एक दो दिनों के भीतर ही कॉलेजों में एडमिशन का शेड्यूल जारी कर देंगे. इस साल काउंसलिंग के लिए छात्रों को यहां कॉलेज में शारीरिक रूप से मौजूद रहने की कोई आवश्यकता नहीं होगी. उन्होंने कहा कि हमने छात्रों और माता-पिता की सुविधा के लिए चंडीगढ़ में सोसाइटी फॉर प्रोमोशन ऑफ आईटी द्वारा बनाई गई सॉफ्टवेयर की मदद ली हैैै. छात्र मध्य जून से अपने फॉर्म जमा कर सकते हैं.

Allahabad University ने कैंसल की लॉ परीक्षा, जानें वजह

पोस्ट ग्रेजुएट गर्वनमेंट कॉलेज फॉर गर्ल्स, सेक्टर 11 की प्रिंसिपल अनीता कौशल ने बताया कि  एडमिशन प्रक्रियाएं 9 जुलाई से शुरू हो जाएंगी और जून के पहले सप्ताह से प्रोस्पेक्टस मिलना शुरू हो जाएगा. अनीता ने कहा कि एडमिशन की तारीख दो दिनों में जारी हो जाएगी. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि प्रोस्पेक्टस में काउंसलिंग दिया होगा, लेकिन छात्रों को सिर्फ फीस जमा करने के लिए ऑफिस आना होगा. बाकी सारे काम ऑनलाइन होंगे.

हालांकि चंड़ीगढ़ के कुछ कॉलेजों में पहले से ही ऑनलाइन एडमिशन की सुविधा है. मसलन  सेक्टर 32 स्थित GGDSD कॉलेज में छात्रों को सिर्फ फीस जमा करने के लिए ही कॉलेज आना होता है. इस कॉलेज की पूरी एडमिशन प्रक्रिया ऑनलाइन ही होती है. जबकि एसडी कॉलेज में फीस जमा करने की प्रक्रिया भी ऑनलाइन ही है.

UT हायर एजुकेशन डिपार्टमेंट ने ऑनलाइन एडमिशन प्रक्रिया शुरू करने के लिए एक ड्राफ्ट तैयार लिया है, जिसमें 11 कॉलेज शामिल हैं.

पंजाब यूनिवर्सिटी को आई थीं दिक्कतें…

साल 2017 में पंजाब यूनिवर्सिटी ने भी एडमिशन की ऑनलाइन प्रक्रिया शुरू की थी. लेकिन इसे लागू करने में यूनिवर्सिटी को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा. ऑनलाइन सिस्टम होने के बावजूद यूनिवर्सिटी को बाद में डॉक्यूमेंट्स की हार्ड कॉपी जमा करने को कहा गया. इस कदम की काफी आलोचना हुई. कहा गया कि ऑनलाइन प्रक्रिया शुरू करने का क्या अर्थ है, जब छात्रों को डॉक्यूमेंट्स की हार्ड कॉपी ही जमा करनी पड़ी. देखना यह है कि चंडीगढ़ में ऑनलाइन एडमिशन प्रक्रिया कितनी सफल होती है.