शिमला: हिमाचल प्रदेश में रातभर हुई भारी बारिश के बाद अंदरूनी इलाकों में ज्यादातर सड़कें सोमवार को परिवहन के लिए बंद हैं, जिसके चलते सैकड़ों यात्री फंसे हुए हैं. एक अधिकारी ने बताया कि मंडी के पास वाहनों की आवाजाही के लिए चंडीगढ़-मनाली राष्ट्रीय राजमार्ग -21 बंद कर दिया गया है. इसी तरह सोलन जिले में जबली के पास चंडीगढ़-शिमला राष्ट्रीय राजमार्ग-5 अवरुद्ध है. Also Read - Himachal Pradesh Lockdown: हिमाचल प्रदेश में और ढील के साथ कोरोना कर्फ्यू की अवधि बढ़ी, देखें नए नियम

Also Read - हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह दूसरी बार हुए कोरोना संक्रमित, अस्पताल में भर्ती

हिंदुस्तान-तिब्बत रोड के कई पड़ावों पर भूस्खलन आने के चलते किन्नौर जिले में वाहनों की आवाजाही बंद है. रिपोर्ट में कहा गया है कि सोलन जिले के कंडाघाट इलाके में भूस्खलन में पांच लोग दफन हो गए. उनमें से एक की मौत हो गई है और बचाव कार्य जारी है. एक अधिकारी ने कहा कि किन्नौर, शिमला, चंबा, मंडी, कुल्लू और सिरमौर जिलों में ऊंचे इलाकों में सड़क नेटवर्क सबसे बुरी तरह से प्रभावित हुए हैं और इन्हें फिर से खोलने के प्रयास किए जा रहे हैं. एहतियात के तौर पर शिमला और मंडी जिले के सभी स्कूलों और शैक्षणिक संस्थानों को एक दिन के लिए बंद कर दिया गया है. Also Read - Himachal Pradesh Board Class 12 Examinations: हिमाचल प्रदेश में 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं रद्द, छात्रों को दिया जाएगा ये विकल्प

VIDEO: जरा इधर भी देखिए सीएम साहेब, बारिश में उधड़ गई सड़कें, लोग बोले- ये है ‘ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी’

मौसम विभाग ने की भारी बारिश की चेतावनी

मौसम विभाग के अनुसार, रविवार से राज्य के अधिकांश हिस्सों में सामान्य से लेकर भारी बारिश हुई है. राज्य में मंडी जिले के नेहरी में सबसे ज्यादा 235 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई. धर्मशाला में पिछले 24 घंटों में 110 मिलीमीटर बारिश हुई, जबकि शिमला में 100 मिलीमीटर, कसौली में 98 मिलीमीटर, सोलन में 94 मिलीमीटर और डलहौजी में 57 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई. मौसम विभाग ने अपने पूर्वानुमान में मंगलवार तक राज्यभर में भारी बारिश होने की बात कही है. (इनपुट एजेंसी)