नई दिल्लीः कुछ माह पहले तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाले एनडीए में साझीदार रही तेलुगु देशम पार्टी के मुखिया चंद्रबाबू नायडू भाजपा विरोधी गठबंधन को मूर्त रूप देने के लिए सक्रिय हो गए हैं. मंगलवार को वह एक बार फिर दिल्ली में थे और इस दौरान उन्होंने तमाम नेताओं से मुलाकात की. उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मुलाकात में लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा-विरोधी मंच बनाने पर चर्चा की.

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री नायडू ने नेशनल कांफ्रेंस प्रमुख फारुक अब्दुल्ला और राकांपा प्रमुख शरद पवार से भी मुलाकात की. लोकसभा चुनाव के लिए बसपा और सपा के साथ आने के बाद नायडू ने दिल्ली की यह यात्रा की है. सूत्रों ने बताया कि दिल्ली में यह तेलुगु देशम पार्टी प्रमुख और अन्य विपक्षी पार्टियों के बीच दूसरे चरण की बैठक थी.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आंध्र प्रदेश के अपने समकक्ष चंद्रबाबू नायडू से यहां मंगलवार को मुलाकात की. उन्होंने लोकसभा चुनाव से पहले महागठबंधन सहित कई राजनीतिक मुद्दों पर चर्चा की. वहीं, नायडू के साथ बैठक के बाद पवार ने कहा, ‘‘ पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री के कोलकाता में एक रैली में शामिल होने के आमंत्रण पर हमने चर्चा की. यह रैली 19 जनवरी को है. हमने उनका आमंत्रण स्वीकार करने और रैली में हिस्सा लेने का निर्णय लिया.’

नायडू ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि कोलकाता की रैली में सभी विपक्षी नेता हिस्सा लेंगे, जहां आगे के कदम पर फैसला किया जाएगा. जब उनसे पूछा गया कि क्या कांग्रेस को इस रैली में शामिल होने का आमंत्रण दिया गया है तो उन्होंने कहा, ‘‘ यह सही नहीं है कि रैली में शामिल होने के लिए आमंत्रण नहीं दिया गया है.’