नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री श्रीपद नाइक ने कहा कि गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के स्वास्थ्य पर गौर करते हुए राज्य में ‘आज नहीं तो कल’ नेतृत्व में बदलाव की जरूरत है. पर्रिकर पिछले कई महीनों से अग्न्याशय की बीमारी का इलाज करा रहे हैं. वह दिल्ली के एम्स में भर्ती होने के बाद 14 अक्टूबर को राज्य में लौटे हैं. केंद्रीय आयुष मंत्री नाइक ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की घोषणा करने के लिए आयोजित संवाददाता सम्मेलन से इतर कहा, ‘हमें आज नहीं तो कल नेतृत्व में बदलाव करना होगा. इसकी जरूरत है. आप सभी जानते हैं कि मुख्यमंत्री स्वस्थ नहीं हैं लेकिन वह इन परिस्थितियों में काम कर रहे हैं. भले ही राज्य में नेतृत्व में बदलाव की बात हो रही है लेकिन भाजपा लगातार इससे इंकार करती रही है. Also Read - TMC सांसद नुसरत जहां ने भाजपा को बताया दंगा कराने वाला, मुसलमानों को कहा- उल्टी गिनती शुरू..

वहीं मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने गुरुवार को तटीय राज्य में खनन अभियान शुरू करने के रास्ते की तलाश के लिए अधिकारियों और इससे संबंधित पक्षों के साथ बैठक की. मुख्यमंत्री कार्यालय ने एक ट्वीट में कहा, ‘ मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों और अन्य पक्षों के साथ गोवा में जल्द से जल्द खनन बहाल करने के संभावित रास्त तलाशने के लिए बैठक की. पर्रिकर ने सितंबर में केंद्र सरकार को कानूनी रास्ते तलाशे जाने के संबंध में पत्र लिखा था. इसमें मौजूदा खनन नियम में संशोधन की बात भी शामिल थी. Also Read - Army Day 2021: BJP ने सेना दिवस के अवसर पर साझा किया बेहतरीन वीडियो, दिखा जवानों का पराक्रम

पिछले महीने गोवा के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे ने मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के स्वास्थ्य के बारे में कहा था कि वह एक मुख्यमंत्री हैं और तथ्य यह है कि वह ठीक नहीं हैं, लेकिन उनकी मौजूदा स्थिति क्या है? आप जानते हैं कि वह एम्स से वापस आए हैं. वह अपने परिवार के साथ हैं. उन्हें आराम करने दीजिए. मेरा मानना है कि गोवा के लोगों की सेवा करने के बाद उनका इतना अधिकार है. Also Read - West Bengal Assembly Election 2021: बंगाल में पाला बदलने की होड़, TMC के 41 विधायक तो BJP के 7 सांसद कर सकते हैं बगावत

आरएसएस की गोवा इकाई के पूर्व प्रमुख सुभाष वेलिंगकर ने आरोप लगाया था कि भाजपा हाईकमान मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर पर उनके खराब स्वास्थ्य के बावजूद पद पर बने रहने का दबाव बना रहा है ताकि पार्टी राज्य में सत्ता में बनी रहे. हालांकि, भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने वेलिंगकर के आरोप को यह कहते हुए खारिज कर दिया था कि पर्रिकर को मुख्यमंत्री पद पर बने रहने के लिए मजबूर नहीं किया जा रहा है और उनके स्वास्थ्य में सुधार हो रहा है.

आरएसएस की गोवा इकाई के पूर्व प्रमुख सुभाष वेलिंगकर ने आरोप लगाया है कि भाजपा हाईकमान मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर पर उनके खराब स्वास्थ्य के बावजूद पद पर बने रहने का दबाव बना रहा है ताकि पार्टी राज्य में सत्ता में बनी रहे. हालांकि, भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने वेलिंगकर के आरोप को यह कहते हुए खारिज कर दिया कि पर्रिकर को मुख्यमंत्री पद पर बने रहने के लिए मजबूर नहीं किया जा रहा है और उनके स्वास्थ्य में सुधार हो रहा है.