रायपुर: छत्तीसगढ़ में हो रहे विधानसभा चुनाव में पहले चरण के मतदान के लिए तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. सोमवार को नक्सल प्रभावित आठ जिले के मतदाता मुख्यमंत्री रमन सिंह समेत 190 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे. राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू ने रविवार को संवाददाता सम्मेलन में बताया कि राज्य में प्रथम चरण के मतदान के लिए तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. राज्य में शांतिपूर्ण मतदान के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं जिसके तहत सुरक्षा बल के लगभग सवा लाख जवानों को तैनात किया गया है.

उन्होंने बताया कि राज्य में चुनाव कार्य के लिए केंद्र से लगभग 65 हजार जवानों को यहां भेजा गया है जिनमें अर्धसैनिक बल और पुलिस बल के जवान शामिल हैं. क्षेत्र में सुरक्षा बल के जवान लगातार गश्त में हैं तथा पड़ोसी राज्यों की पुलिस के साथ भी बेहतर तालमेल बनाकर अभियान चलाया जा रहा है. क्षेत्र में संदिग्ध गतिविधियों पर नजर रखने के लिए मोबाइल चेक पोस्ट भी बनाए गए हैं.

साहू ने बताया कि पहले चरण में सोमवार को 18 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान होगा. प्रथम चरण में 190 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. उन्होंने बताया कि प्रथम चरण के निर्वाचन वाले 18 विधानसभा क्षेत्रों में से 10 विधानसभा क्षेत्रों में सोमवार को सुबह सात बजे से दोपहर तीन बजे तक वोट डाले जाएंगे. वहीं शेष आठ विधानसभा क्षेत्र जिसमें से राजनांदगांव जिले के पांच और बस्तर जिले के तीन विधानसभा क्षेत्र शामिल हैं में सुबह आठ बजे से शाम पांच बजे तक वोट डाले जाएंगे.

उन्होंने बताया कि विधानसभा क्षेत्र मोहला-मानपुर, अंतागढ़, भानुप्रतापपुर, कांकेर, केशकाल, कोण्डागांव, नारायणपुर, दंतेवाड़ा, बीजापुर और कोण्टा में सुबह सात से दोपहर तीन बजे तक मतदान होगा. वहीं विधानसभा क्षेत्र खैरागढ, डोंगरगढ़, राजनांदगांव, डोंगरगांव, खुज्जी, बस्तर, जगदलपुर और चित्रकोट में सुबह आठ बजे शाम पांच बजे तक मतदान होगा. प्रथम चरण में कुल मतदान केन्द्रों की संख्या 4336 है जहां 31,80,014 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे. इनमें पुरुष मतदाताओं की संख्या 15,57,435 जबकि महिला मतदाताओं की संख्या 16,22,492 है. वहीं 87 मतदाता थर्ड जेंडर हैं.

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि प्रथम चरण में निर्वाचन संपन्न कराने के लिए कुल 19079 कर्मचारियों को नियुक्त किया गया है. दुर्गम और संवेदनशील क्षेत्रों के मतदान केन्द्रों में कुल 942 मतदान कार्मिकों को हेलीकाप्टर के माध्यम से भेजा जा चुका है. जिनमें से बीजापुर जिले में 329 मतदानकर्मी, सुकमा जिले में 206, कांकेर जिले में 271, नारायणपुर जिले में 103, बस्तर जिले में 22 और कोण्डागांव जिले में 11 मतदान कर्मियों को हेलीकाप्टर से भेजा गया है.

शेष 16,400 मतदान कर्मिकों को बस के माध्यम से आज मतदान केन्द्रों के लिए रवाना किया गया है. अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा कारणों से 201 मतदान केंद्रों को दूसरी जगह स्थानांतरित किया गया है. जिसमें सुकमा जिले 40 मतदान केंद्र, बस्तर जिले के दो, बीजापुर जिले के 76, नारायणपुर जिले के 18, दन्तेवाड़ा जिले के 21, कोण्डागांव जिले के चार, कांकेर जिले के 28 और राजनांदगांव जिले के 12 मतदान केंद्र शामिल हैं.

(इनपुट भाषा)