हैदराबाद: तेलंगाना की चेवेल्ला लोकसभा सीट से कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार कोंडा विश्वेश्वर ने 895 करोड़ रुपये की पारिवारिक संपत्ति की घोषणा की है, जिससे वह दोनों तेलुगू राज्यों में सबसे अमीर राजनेता बन गए हैं. रेड्डी के पास चल संपत्ति के रूप में 223 करोड़ की संपत्ति है, जबकि अपोलो अस्पताल की संयुक्त प्रबंध निदेशक और उनकी पत्नी की चल संपत्ति 613 करोड़ रुपये है. उन पर आश्रित उनके बेटे की चल संपत्ति करीब 20 करोड़ रुपये है.

Lok Sabha Election 2019: BJP ने लोकसभा चुनाव के लिए जारी की दूसरी लिस्‍ट, पुरी से लड़ेंगे संबित पात्रा

हालांकि परिवार के किसी भी सदस्य के पास न ही कार है और ना ही कोई वाहन है. विश्वेश्वर रेड्डी के पास 36 करोड़ रुपये की अचल संपत्ति भी है जबकि उनकी पत्नी के पास 1.81 करोड़ रुपये की अचल संपत्ति है. इंजीनियर से राजनेता बने रेड्डी ने शुक्रवार को नामांकन भरने के दौरान अपने और परिवार की संपत्ति की घोषणा की. 2014 में, उन्होंने 528 करोड़ की पारिवारिक संपत्ति की घोषणा की थी. उन्होंने तब तेलंगाना राष्ट्र समिति के उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ा था और जीत दर्ज की थी. वह गत दिसंबर विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस में शामिल हो गए थे.

Lok Sabha Election 2019: 28 को मेरठ में PM मोदी की बड़ी रैली, 24 को आगरा में होंगे अमित शाह

आंध्र प्रदेश के कैबिनेट मंत्री पी. नारायण ने भी शुक्रवार को नल्लौर विधानसभा सीट से अपना नामांकन दाखिल करते वक्त 667 करोड़ रुपेय की संपत्ति की घोषणा की. वह नारायण ग्रुप ऑफ इंस्ट्टियूट के मालिक हैं. आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चन्द्रबाबू नायडू की पारिवारिक संपत्ति 574 करोड़ रुपये है, जबकि वाईएसआर कांग्रेस के प्रमुख वाई.एस. जगमोहन रेड्डी और उनकी पत्नी की संपत्ति 538 करोड़ रुपये है.