नई दिल्ली. हिंदी हर्टलैंड कहे जाने वाले मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान विधानसभा में चुनाव जीत के बाद कांग्रेस ने दो राज्यों में सीएम का फैसला ले लिया है. लेकिन छत्तीसगढ़ में कौन सीएम होगा इस पर फैसला आना अभी बाकी है. जिस तरह से कांग्रेस अध्यक्ष ने दो राज्यों के नेताओं के साथ तस्वीर जारी करके सीएम के चेहरे का ऐलान किया था, वैसी ही उम्मीद छत्तीसगढ़ से भी थी. लेकिन वहां की भी तस्वीर आ गई और सीएम का फैसला नहीं हो पाया. मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि रविवार दोपहर तक इस पर फैसला हो जाएगा.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और मुख्यमंत्री पद की दौड़ में चार दावेदारों- भूपेश बघेल, टी.एस. सिंहदेव, ताम्रध्वज साहू और चरण दास महंत के साथ शनिवार को बैठक की थी. कांग्रेस के केंद्रीय पर्यवेक्षक मल्लिकार्जुन खड़गे और छत्तीसगढ़ के पार्टी प्रभारी पी.एल. पुनिया भी बैठक में उपस्थित थे. हालांकि इस बीच यह खबर भी आ रही है कि प्रदेश के दिग्गज कांग्रेस नेता ताम्रध्वज साहू ने कहा है कि अगर उन्हें सीएम नहीं बनाया गया तो वे पार्टी छोड़ देंगे. हालांकि पार्टी सूत्रों ने इस खबर को खारिज किया है.

विधायकों के साथ बैठक
कांग्रेस के विश्वस्त सूत्रों ने कहा कि नेतृत्व का मुद्दा सुलझ गया है और नाम की औपचारिक घोषणा रविवार को रायपुर में नवनिर्वाचित विधायकों की बैठक में की जाएगी. इसके पहले छत्तीसगढ़ कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया ने कहा कि रविवार को दोपहर 12 बजे नवनिर्वाचित विधायकों की बैठक होगी और उसके बाद नए मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा की जाएगी. पार्टी के विश्वस्त सूत्रों ने उन खबरों को खारिज कर दिया, जिसमें कहा गया है कि मुख्यमंत्री पद के एक दावेदार ताम्रध्वज साहू ने धमकी दी है कि यदि उन्हें मुख्यमंत्री नहीं बनाया गया तो वह पार्टी से इस्तीफा दे देंगे. सूत्रों ने यह भी संकेत दिया कि राजस्थान की तरह छत्तीसगढ़ में कोई उपमुख्यमंत्री नहीं होगा. दुर्ग जिले की पाटन विधानसभा सीट का प्रतिनिधित्व करने वाले बघेल अक्टूबर, 2014 से पार्टी की राज्य इकाई के अध्यक्ष हैं.

राहुल ने जारी की थी तस्वीर
इसके पहले राहुल ने मुख्यमंत्री पद के चारों दावेदारों के साथ अपना एक चित्र साझा करते हुए अमेरिकी इंटरनेट उद्यमी रीड हाफमैन के कथन का उद्धरण दिया था, “आपका दिमाग और आपकी रणनीति चाहे कितना ही कुशल क्यों न हो, यदि आप अकेले खेलते हैं, तो एक टीम से आप हमेशा हार जाएंगे.” राहुल ने इसके पहले मध्य प्रदेश के घोषित मुख्यमंत्री कमलनाथ और इस पद के दूसरे दावेदार ज्योतिरादित्य सिंधिया के चित्र, तथा राजस्थान के घोषित मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पार्टी की राज्य इकाई के अध्यक्ष सचिन पायलट के चित्र भी ट्वीट किए थे. पायलट को उपमुख्यमंत्री घोषित किया गया है.