रायपुर. छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने मंगलवार को अपनी कैबिनेट का विस्तार किया. इस दौरान 9 विधायकों ने मंत्री पद की शपथ ली. इसमें 6 नए चेहेर को मौका दिया गया है. गवर्नर आनंदीबेन पटेल ने सभी को शपथ दिलाई. बता दें कि बघेल के 17 दिसम्बर को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के साथ टी एस सिंहदेव और ताम्रध्वज साहू ने भी मंत्री पद की शपथ ली थी.Also Read - छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री Bhupesh Baghel के खिलाफ यूपी में मुकदमा दर्ज, जानें क्या है मामला

बघेल ने मंत्रिमंडल में जातिगत समीकरण का काफी तवज्जो दिया है. इस बार दो सतनामी तो तीन आदिवासी समाज के विधाकों को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है. साथ ही एक महिला विधायक और एक मुस्लिम विधायक को भी मंत्री बनाया गया है. पहली बार के विधायक बने नेताओं को मंत्री नहीं बनाया गया है. Also Read - भूपेश बघेल के पिता की मांग- EVM की जगह बैलेट पेपर से कराए जाएं चुनाव, ऐसा नहीं होने पर मांगी ‘इच्छामृत्यु’ की अनुमति

Also Read - गांव के सैकड़ों लोगों ने एकत्रित होकर ली शपथ- मुस्लिमों का पूरी तरह बहिष्कार करेंगे, कोई संबंध नहीं रखेंगे

ये 9 विधायक बने मंत्री
रविंद्र चौबे, प्रेमसहाय सिंह टेकाम, मो. अकबर, कवासी लखमा, शिव डहरिया, अनिल भेड़िया, जयसिंह अग्रवाल, गुरु रुद्र कुमार और उमेश पटेल.

अधिकतम 13 मंत्री हो सकते हैं
बता दें कि छत्तीसगढ़ में विधानसभा की 90 सीटें हैं. कैबिनेट में सीएम सहित अधिक से अधिक 13 मंत्री हो सकते हैं. ऐसे में कैबिनेट को अंतिम रूप देने में 11 लोकसभा क्षेत्रों के अलावा साल 2019 में होने वाले लोकसभा के चुनावों को भी ध्यान में रखा गया है. शपथ ग्रहण के बाद मंत्रियों के विभाग तय किए जाएंगे.