नई दिल्ली. छत्तीसगढ़ चुनाव के दूसरे और अंतिम चरण के मतदान के दौरान बेमेतरा जिले के नवागढ़ में एक अजीबो-गरीब घटना देखने को मिली. दरअसल, इस सीट से बीजेपी के प्रत्याशी और सरकार में मंत्री दयाल दास बघेल कैंडिडेट हैं. वह वोट डालने पहुंचे तो पोलिंग बूथ पर ही पूजा-अर्चना करने लगे. इसका फोटो और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. निर्वाचन आयोग ने पूरे मामले को संज्ञान में लेते हुए मंत्री के खिलाफ नोटिस जारी करने का आदेश दिया है.

दयाल दास बघेल पिछली बार इस सीट से चुनाव जीते थे. इसके बाद रमन सिंह ने उन्हें अपनी सरकार में मंत्री बनाया था. साल 2018 के चुनाव में भी बीजेपी ने उन्हें प्रत्याशी बनाया है. दूसरे चरण की वोटिंग में वह अपने बूथ पर वोट डालने पहुंचे तो पूजा करने लगे. उन्होंने बकायदा अगरबत्ती जलाई, नारियल फोड़े और मंत्र पढ़ना शुरू कर दिया. इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है.

सवाल यहां ये उठ रहा है कि बूथ अफसर ने उन्होंने इस तरह का करने से क्यों नहीं रोका. बता दें कि निर्वाचन नियमावली में वोटिंग के दौरान किसी भी पोलिंग बूथ में पूजा-अर्चना और धार्मिक कर्म-कांड, तंत्र-मंत्र की अनुमति नहीं है. निर्वाचन आयोग ने इसे संज्ञान में लेते हुए जिला निर्वाचन अधिकारी को मंत्री बघेल के खिलाफ नोटिस जारी करना का निर्देश दिया है.