रायपुर: पूरा देश फिलहाल कोरोना वायरस से लड़ने में जुटा हुआ है. केंद्र सरकार से लेकर कई राज्य सरकार ने इससे निपटने के लिए कुछ ठोस कद म उठाए है. दिल्ली, लखनऊ समेत कुछ जगहों के बाद अब छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस से निपटने के इंतजाम किए जाने के साथ सभी नगरीय निकाय क्षेत्रों में 31 मार्च तक के लिए लॉक डाउन कर दिया गया है. Also Read - कोरोना से जंग में ये हैं PM मोदी के विशेष योद्धा, मिनटों में PMO पहुंचती है हर एक जानकारी

यह ऐलान रविवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किया.मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश की जनता को संबोधित किया और कल और आज स्वैच्छिक कर्फ्यू के शतप्रतिशत पालन के लिए उन्हें धन्यवाद दिया. मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य की जनता ने कल और आज स्वैच्छिक कर्फ्यू का शतप्रतिशत पालन किया है.बड़े शहरों ही नहीं अपितु छोटे-छोटे गांवों में भी लोगों ने अपने आपको अपने घरों तक सीमित रख कर अभूतपूर्व सामाजिक और राष्ट्रीय उत्तरदायित्व का पालन किया है. Also Read - गौतम गंभीर ने LOCKDOWN को लेकर दी चेतावनी, बोले-चुनें Quarantine या जेल!

कोरोना वायरस की महामारी से बचने और लड़ने में यह अत्यंत महत्वपूर्ण योगदान है. हमने इसी तरह अपने दायित्व का पालन किया और अपने घरों में रहे तो हम छत्तीसगढ़ और देश में कोरोना को हराने में कामयाब हो जायेंगे. मुख्यमंत्री ने कहा कि, मुसीबत के समय छत्तीसगढ़ और देश के लोगों ने हमेशा समर्पण और देशप्रेम का भाव दिखाया है.हमने छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए कई आवश्यक फैसले लिये है. Also Read - बहन संग अनन्या पांडे ने शेयर की क्यूट तस्वीर, बताया- जनता कर्फ्यू के दिन किया ये काम

विश्वभर में कोरोना वायरस से बचाव के लिए लकडाउन या आइसोलेशन को ही एकमात्र कारगर तरीका माना गया है और वो इसका कड़ाई से पालन भी कर रहे है.केंद्र शासन ने 31 मार्च तक यात्री रेल सेवा को बंद कर दिया.छत्तीसगढ़ में भी वायरस के फैलाव को रोकने के लिये शहरी क्षेत्रों में 31 मार्च तक स्वैच्छिक कर्फ्यू को बढ़ाने का निर्णय लिया है.

उन्होंने बताया कि, आगामी 31 मार्च तक सभी कार्यालय, संस्थान, परिवहन सेवाएं और अन्य गतिविधियां बंद रहेगी.अति आवश्यक सेवाएं जैसे दवा दुकान, किराना दुकानें, जनरल स्टोर्स, सब्जी, दूध, पेट्रोल पंप खुले रहेंगे.इसके साथ ही बिजली आपूर्ति, जल प्रदाय सेवाएं, घरेलु गैस आपूर्ति सेवा, नगर निगम की साफसफाई और कचरा निपटान सेवाएं तथा आवश्यक वस्तुओं के कमर्शियल परिवहन सेवाएं भी पहले की तरह निर्बाध रूप से कार्य करती रहेगी.स्वास्थ्य सेवाओं के लिए टोल फ्री नम्बर 104 एवं अन्य किसी भी प्रकार की समस्या के लिए 112 नम्बर पर संपर्क किया जा सकता है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि, यह निर्णय कठोर है लेकिन आपके, आपके परिवार की जीवन रक्षा के लिए ऐसा करना आवश्यक है .इस संकट की घड़ी में आपका मुख्यमंत्री, सरकार और उसका पूरा महकमा आपके साथ है.मुझे पूरा विश्वास है कि आप सभी के सहयोग से हम इस महामारी पर विजय पाने में सफल होंगे.

 

इनपुट-एजेंसी