नई दिल्ली: कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिये अग्रिम मोर्चे पर तैनात चिकित्सकों, अन्य स्वास्थ्यकर्मियों और पुलिसकर्मियों जैसे लाखों लोगों का देश के सशस्त्र बल रविवार को भव्य तरीके से आभार प्रकट करेंगे. इसके तहत, लड़ाकू विमान ‘फ्लाई-पास्ट’ करेंगे, सेना के बैंड बजाए जाएंगे, नौसेना के हेलीकॉप्टर कोविड-19 रोगियों के इलाज में जुटे अस्पतालों पर फूल बरसाएंगे और नौसेना के जहाजों को प्रकाशमान किया जाएगा. प्रमुख रक्षा अध्यक्ष (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत ने शुक्रवार को सेना के तीनों अंगों के प्रमुखों थल सेना प्रमुख एम एम नरवणे, नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह और वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आर के एस भदौरिया की उपस्थिति वाले संवाददाता सम्मेलन में यह घोषणा की. Also Read - कोरोना वायरस से प्रभावित टॉप 10 देशों की सूची में पहुंचा भारत, जून के अंत तक बहुत तेजी से बढ़ेंगे मामले

जनरल रावत ने कहा, ‘‘ कोरोना वायरस संकट से निपटने के लिये राष्ट्र एकजुटता के साथ खड़ा है और इस महामारी से शीघ्र उबरने की क्षमता प्रदर्शित की है. सशस्त्र बलों की ओर से मैं सभी ‘कोरोना योद्धाओं’–चिकित्सक, नर्स, स्वच्छता कर्मी, पुलिस, होमगार्ड, सामान पहुंचाने वाले लोगों (डिलीवरी ब्वॉय) और मीडिया को धन्यवाद देना चाहता हूं.’’ जनवरी में देश के प्रथम सीडीएस का प्रभार संभालने के बाद उन्होंने अपने पहले संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘तीन मई को तीनों बलों द्वारा विशेष आभार प्रकट करने के तौर पर कुछ विशेष गतिविधियां की जाएंगी.’’ Also Read - कोरोना के बढ़ते मामले या सीमा पर तनाव है वजह! भारत से अपने नागरिकों को निकालेगा चीन

जनरल रावत ने कहा कि महामारी से निपट रहे अग्रिम मोर्चे पर तैनात सभी कर्मियों के सम्मान में रविवार शाम वायुसेना श्रीनगर (जम्मू कश्मीर) से तिरूवनंतपुरम (केरल) तक और डिब्रूगढ़ (असम) से लेकर कच्छ (गुजरात) तक ‘फ्लाई-पास्ट’ करेगी. इसमें लड़ाकू विमान भाग लेंगे. सीडीएस ने कहा कि नौसेना के हेलीकॉप्टर कोविड-19 रोगियों का इलाज कर रहे अस्पतालों पर फूल बरसाएंगे. Also Read - Bihar Coronavirus Update: कोरोना संक्रमितों की संख्या 2 हजार के पार, 62 फीसदी प्रवासी मरीज, पटना में सबसे ज्यादा मामले

उन्होंने कहा कि थल सेना लगभग प्रत्येक जिले में कुछ कोविड-19 अस्पताल के सामने माउंटेन बैंड का प्रदर्शन करेगी, जबकि नौसेना ‘कोरोना योद्धाओं’ का आभार जताने के लिये तटीय इलाकों में अपने जंगी जहाजों को तैनात करेगी और रविवार शाम (कोरोना योद्धाओं को) धन्यवाद देने के तहत उन्हें प्रकाशमान किया जाएगा. उन्होंने कहा कि इसके अलावा देश भर में पुलिस स्मारक पर पुष्प चक्र अर्पित किये जाएंगे. जनरल रावत ने कहा, ‘‘हमारे पुलिसकर्मी महामारी के खिलाफ देश की लड़ाई में एक महान कार्य कर रहे हैं. उन्हें रेड जोन में तैनात किया गया है. हम पुलिसकर्मियों का भी आभार प्रकट करना चाहते हैं.’’

रविवार को समाप्त होने वाले मौजूदा लॉकडाउन को सोमवार से और दो हफ्तों के लिये बढ़ाए जाने की केंद्रीय गृह मंत्रालय की घोषणा से कुछ ही देर पहले उन्होंने यह ऐलान किया. जनरल रावत ने कहा कि सशस्त्र बल उन लोगों के पीछे मजबूती से खड़ा है, जो कोरोना वायरस महामारी से लड़ रहे हैं. उन्होंने जोर देते हुए कहा कि कोविड-19 के चलते कोई अभियान कार्य प्रभावित नहीं हुआ है और न प्रभावित होगा. उन्होंने कहा कि इस निष्कर्ष पर पहुंचना उचित नहीं है कि कोरोना वायरस महामारी जैविक (बायोलॉजिकल) युद्ध का परिणाम है.