नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश ने आज दिल्ली विधानसभा के बजट सत्र की तारीखों को अंतिम रूप देने के लिए हुई कैबिनेट की बैठक में शिरकत की. इस दौरान बैठक स्थल के बाहर दिल्ली पुलिस भी तैनात थी. पिछले सप्ताह उन पर आप विधायकों द्वारा कथित रूप से हमला किये जाने के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ यह उनकी पहली सरकारी बैठक थी. उधर मुख्यमंत्री के सलाहकार वी के जैन एक सप्ताह के चिकित्सा अवकाश पर चले गए हैं जिनसे पुलिस ने 19 फरवरी को केजरीवाल के आवास पर प्रकाश के साथ कथित मारपीट के मामले में पूछताछ की थी.

सूत्रों ने पीटीआई को बताया कि मुख्यमंत्री के सलाहकार सप्ताह भर के मेडिकल लीव पर चले गए हैं. वह मुख्य सचिव पर कथित हमले के बाद से दफ्तर नहीं आ रहे हैं. दिल्ली पुलिस ने पिछले सप्ताह एक अदालत में कहा था कि जैन ने पूछताछ के दौरान बताया कि उन्होंने विधायकों प्रकाश जरवाल और अमानतुल्लाह खान को उस रात मुख्यमंत्री के आवास पर मुख्य सचिव को घेरते और उन पर हमला करते हुए देखा था.

अंशु प्रकाश का सीएम केजरीवाल को पत्र, हमले न होने की गारंटी दें तभी बैठक में आएंगे

आज की कैबिनेट बैठक से कुछ घंटे पहले अंशु प्रकाश ने केजरीवाल को लिखे एक पत्र में कहा कि वह बजट के महत्वपूर्ण मामलों पर बातचीत के लिए बैठक में शामिल होंगे और मुख्यमंत्री सुनिश्चित करें कि बैठक में शामिल होने वाले अधिकारियों पर कोई शारीरिक हमला या मौखिक हमला नहीं किया जाएगा.

कैबिनेट ने फैसला किया है कि दिल्ली विधानसभा का बजट सत्र 16 मार्च से 28 मार्च तक चलेगा. अंशु प्रकाश ने अपने पत्र में लिखा, दिल्ली विधानसभा के बजट सत्र की तारीखें तय करने के महत्वपूर्ण विषय पर बातचीत करने के लिहाज से आज मंत्रिपरिषद की एक बैठक बुलाई गई है. चूंकि बजट सत्र की तारीख तय करना और बजट पारित करना सरकार का महत्वपूर्ण कामकाज है, इसलिए मैं संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक में शामिल होऊंगा. उन्होंने उम्मीद जताई कि कैबिनेट की बैठक में उचित शिष्टाचार बरता जाएगा और अधिकारियों के सम्मान की रक्षा होगी.

तिहाड़ जेल में हैं दोनों विधायक 

वहीं, अदालत ने आज एक बार फिर आप विधायक प्रकाश जरवाल को जमानत देने से इनकार कर दिया जिन्हें प्रकाश पर कथित हमले के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया था. प्रकाश जरवाल और अमानतुल्लाह खान को अदालत ने जमानत याचिका खारिज करते हुए 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेजा है. दोनों को तिहाड़ जेल में रखा गया है. इन दोनों के खिलाफ अंशु प्रकाश ने दिल्ली पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी कि इन्होंने न सिर्फ उनके साथ मारपीट और बदसलूकी की. इस दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल और डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया भी मौजूद थे.

(भाषा इनपुट)