दस जिंदगियां ख़त्म कर चुके चिकनगुनिया को लेकर  दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने आज कहा कि डेंगू के विपरीत चिकुनगुनिया अपने आप मौत की वजह नहीं बन सकती। जैन ने ये बयान तब दिया, जब चिकनगुनिया की वजह से होनेवाली मौतों पर पहले से ही बवाल मचा हुआ है। उन्होंने कहा कि  केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा इस संबंध में उनकी राय का समर्थन करते हैं और उनके अनुसार वह स्वास्थ्य मंत्री होने के नाते बढ़ती मौतों की वजह पता लगाने के लिए सक्षम नहीं हैं।

जैन ने आगे कहा कि केवल डॉक्टर और वैज्ञानिक ही यह तय कर पायेंगे कि उनकी मौत क्यों हुई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा के सन्दर्भ में उन्होंने कहा कि ‘नड्डा जी ने मुझसे कहा कि पूरे देश में एक की भी जान चिकुनगुनिया से नहीं गयी। मेडिकल साइंस कहता है कि आम तौर पर लोग चिकुनगुनिया से नहीं मरते।’

उन्होंने ये जानकारी देते हुए कहा कि ‘दिल्ली सरकार के सभी 12 अस्पतालों में अच्छी व्यवस्था है, जहाँ 2000 मरीजों के लिए बिस्तर खाली हैं। किसी भी मरीज को इलाज से वंचित नहीं जाएगा। हम हर मरीज का इलाज करने को तैयार हैं।’

बता दें कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय पहले से ही राष्ट्रीय राजधानी में चिकुनगुनिया मौतों की जांच में लगा है।