एक ओर जहां सिक्किम में भारतीय और चीनी सेना के बीच महीने भर से गतिरोध जारी है तो वहीं दूसरी ओर चीन ने भारतीय समुद्री क्षेत्र में पनडुब्बी तैनात कर दी है. भारत की ओर से हाल ही में चीनी पनडुब्बी को भारतीय समुद्री क्षेत्र में प्रवेश करते देखा गया. चीन के इस कदम से हलचल मच गई है.

युआन क्लास की ये पारंपरिक डीजल इलेक्ट्रिक पनडुब्बी क्षेत्र में तैनात की जाने वाली 7वीं पनडुब्बी है. इंडियन नेवी ने भारतीय समुद्री क्षेत्र में चीन द्वारा बढ़ रही गतिविधियों की जानकारी रक्षा मंत्रालय को दे दी है. ऐसा भी बताया जा रहा है कि पनडुब्बी के साथ चीनी नौसेना पोत चोंगमिंगडाओ का सपोर्ट भी है. हिंदी महासागर क्षेत्र में चीनी युद्धपोतों और पनडुब्बियों को 3 साल पहले भी देखा गया था.

आपको बता दें कि हाल ही में नेवी ने सैटेलाइट्स और अन्य निगरानी तंत्र के जरिये कम से कम 14 चीनी नौसेना पोतों को भारतीय समुद्री क्षेत्र में घूमते देखा. आधुनिक लुआंग-3 और कुनमिंग क्लास स्टील्थ डेस्ट्रॉयर्स को भी देखा गया है. भारतीय नौसेना चीन द्वारा की जा रही हर गतिविधियों पर नजर रख रही है.

ज्ञात हो कि साल 2013 के दिसंबर महीने में पहली बार चीनी पनडुब्बी को भारत में देखा गया था. शांग क्लास- न्यूक्लियर प्रोपेल्ड पनडुब्बी भारत के आसपास करीब तीन महीने फरवरी 2014 तक तैनात रही थी.