बीजिंग: चीन में कानून बनाने वाले शीर्ष निकाय ने इस महीने के अंत में तीन दिन के सत्र के आयोजन की घोषणा की है. इस घोषणा से हांग कांग के लिए बनाए गए राष्ट्रीय सुरक्षा कानून को लागू करने की संभावना बढ़ गई है. चीन के इस प्रस्तावित कानून से अर्द्ध स्वायत्त क्षेत्र में बहस छिड़ने के साथ ही भय का माहौल भी उत्पन्न हो गया है. Also Read - भारत को मिला अमेरिका का समर्थन, माइक पॉम्पिओ बोले- चीन को भारत ने दिया सही जवाब

आधिकारिक शिन्हुआ समाचार एजेंसी ने रविवार को कहा कि नेशनल पीपुल्स कांग्रेस की स्थायी समिति की 28 से 30 जून के बीच बीजिंग में बैठक होगी. बैठक शनिवार को समाप्त हो रहे तीन दिवसीय सत्र के महज एक हफ्ते बाद हो रही है, जो एक असामान्य बात है क्योंकि एनपीसी की स्थायी समिति आम तौर पर प्रत्येक दो महीने में बैठक करती है. Also Read - कांग्रेस का सवाल- भारतीय सेना LAC पर हमारी ही सरजमी से क्यों हट रही है पीछे, क्या पीएम मोदी के शब्दों के मायने नहीं?

शिन्हुआ की खबर में चर्चा के विभिन्न विषयों में हांग कांग सुरक्षा कानून का जिक्र नहीं किया गया लेकिन यह बैठक के एजेंडा में शामिल हो सकता है. Also Read - उत्तराखंड के मंत्री ने चीनी राष्ट्रपति को रामायण भेजी, कहा- रावण भी ऐसी ही सोच का था, पढ़कर सबक लें

(इनपुट भाषा)