वुहान: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के बीच होने वाली अनौपचारिक शिखर वार्ता से पहले चीन ने गुरुवार को दोनों देशों के बीच व्यापार को बढ़ावा देने के लिए हिंदी फिल्म अभिनेता आमिर खान को ब्रांड एंबेसेडर नियुक्त करने की भारत की योजनाओं से जुड़ी खबरों का स्वागत किया.

चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनफिंग ने बीजिंग में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘मैंने संबंधित खबरें देखीं, हम सबको पता है कि आमिर खान एक मशहूर भारतीय अभिनेता हैं, बहुत सारे चीनी लोगों जिनमें मैं भी शामिल हूं , ने उनकी फिल्म दंगल देखी है.’’

कुछ खबरों में कहा गया है कि वाणिज्य मंत्रालय दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय व्यापार संबंधों को बढ़ावा देने की योजना बना रहा है. बता दें कि आमिर की फिल्म दंगल चीन में काफी लोकप्रिय हुई थी. यहां तक कि राष्ट्रपति शी ने भी फिल्म देखी थी. आमिर खान की एक और फिल्म ‘सीक्रेट सुपरस्टार’ भी चीन में काफी मशहूर हुई है और बॉक्स ऑफिस पर कमाई के रिकार्ड भी तोड़े हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के बीच दो दिवसीय अप्रत्याशित शिखर वार्तांओं का दौर आज से शुरू होगा. इस दौरान होने वाले कार्यक्रमों में दोनों प्रमुख नेताओं की अनौपचारिक सीधी बातचीत, चीन के सबसे अच्छे म्यूजियम की यात्रा और एक मनमोहक झील के किनारे रात्रि भोज भी शामिल है.

इस सम्मेलन को ‘दिल से दिल को जोड़ने वाली पहल’ करार दिया जा रहा है जिसका उद्देश्य दोनों देशों के कुछ अति विवादास्पद मुद्दों पर सहमति की राह खोजना है. मोदी व शी आज दिन के भोजन के बाद अकेले में बैठक करेंगे.

दोनों नेता शुरू में हुबई प्रांतीय संग्रहालय जाएंगे जहां बड़ी संख्या में ऐतिहासिक व सांस्कृतिक निशानियां मौजूद हैं. इसके बाद दोनों नेता वार्ता करेंगे जिसमें दोनों तरफ से छह – छह आला अधिकारी भाग लेंगे. दोनों नेता चर्चित ईस्ट लेक के किनारे रात्रि भोज करेंगे जो कि चीन के क्रांतिकारी नेता माओत्से तुंग का पसंदीदा अवकाश गंतव्य रहा है.

शनिवार को दोनों नेता झील के किनारे टहलेंगे, बोट में यात्रा करेंगे और भोज करेंगे. दोनों नेताओं ने अपनी अनौपचारिक बैठकों की शुरुआत 2014 में की थी जब शी भारत गए और मोदी ने उनकी आगवानी गुजरात के साबरमति आश्रम में की थी. उसके बाद से दोनों नेता दर्जन भर अंतरराष्ट्रीय बैठकों में मिल चुके हैं.

(इनपुट:एजेंसी)