Top Recommended Stories

चीनी सेना PLA ने इंडियन आर्मी को सौंपा अरुणाचल प्रदेश के 19 साल के लड़के को: केंद्रीय मंत्री रिजिजू का ट्वीट

केंद्रीय कानून मंत्री किरेन रिजिजू ने ट्वीट क‍िया क‍ि चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) ने अरुणाचल प्रदेश के लापता युवक को भारतीय सेना को सौंप दिया है,अरुणाचल प्रदेश के सियांग जिले से 19 वर्षीय मिराम तारोन 18 जनवरी को लापता हो गया था

Updated: January 27, 2022 3:34 PM IST

By India.com Hindi News Desk | Edited by Laxmi Narayan Tiwari

Chinese, PLA, Indian Army, Arunachal Pradesh, India, China, Kiren Rijiju, LAC
चीन की सेना पीएलए ने आज गुरुवार को अरुणाचल प्रदेश के मिराम तारोन को भारतीय सेना को सौंप दिया.

नई दिल्ली: चीन की (Chinese) पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) ने अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) के लापता युवक को भारतीय सेना (Indian Army) को सौंप दिया है. अरुणाचल प्रदेश के सियांग जिले से 19 वर्षीय मिराम तारोन (Miram Taron) 18 जनवरी को लापता हो गया था. यह जानकारी केंद्रीय कानून मंत्री किरेन रिजिजू ने आज गुरुवार को एक ट्वीट करके दी है.

Also Read:

केंद्रीय कानून मंत्री किरेन रिजिजू ने एक ट्वीट में बताया कि लड़के की मेडिकल जांच सहित अन्य प्रक्रियाएं पूरी की जा रही हैं. उन्होंने ट्वीट किया, ”चीन के पीएलए ने अरुणाचल प्रदेश के मिराम तारोन को भारतीय सेना को सौंप दिया. चिकित्सकीय जांच सहित अन्य प्रक्रियाएं पूरी की जा रही हैं.”

केंद्रीय कानून मंत्री किरेन रिजिजू ने ट्वीट कर कहा, ” चीनी पीएलए ने आज अरुणाचल प्रदेश के वाचा-दमई (Wacha Damai) इंटरेक्शन पॉइंट पर अरुणाचल प्रदेश के श्री मिराम तारोन को भारतीय सेना को सौंप दिया. मैं पीएलए के साथ मामले को सावधानीपूर्वक आगे बढ़ाने और हमारे युवा लड़के को सुरक्षित घर वापस लाने के लिए हमारी गर्वित भारतीय सेना को धन्यवाद देता हूं.”

लोकसभा सांसद रिजिजू ने मंगलवार को बताया था कि चीन ने 20 जनवरी को भारतीय सेना को सूचित किया था कि उन्हें अपनी ओर एक लड़का मिला है और उसकी पहचान की पुष्टि के लिए और जानकारी मांगी थी. रिजिजू ने सोशल मीडिया पर एक बयान में कहा था, ”पहचान की पुष्टि करने में चीन की मदद के लिए, भारतीय सेना ने उनके साथ उसका व्यक्तिगत विवरण और तस्वीर साझा की है. चीन के जवाब का इंतजार है.” बयान में कहा गया था, ”कुछ लोगों ने बताया है कि चीन के पीएलए ने उसे हिरासत में लिया है.”

रिजिजू ने कहा था कि युवक के वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के करीब एक क्षेत्र से लापता होने के बाद भारतीय सेना ने तुरंत 19 जनवरी को चीन से सम्पर्क किया. उसके गलती से चीन के क्षेत्र में दाखिल होने या पीएलए के उसको हिरासत में लेने पर उसका पता लगाने और उसकी वापसी के लिए सहयोग मांगा. मंत्री ने कहा कि चीन ने आश्वासन दिया था कि वे उसकी तलाश करेंगे और स्थापित नियमों के तहत उसे वापस सौंप देंगे.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें देश की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 27, 2022 3:30 PM IST

Updated Date: January 27, 2022 3:34 PM IST