नई दिल्ली. साउथ चाइना सी (दक्षिण चीन सागर) में एक बार फिर अमेरिका और चीन के बीच तल्खी देखने को मिल रही है. रिपोर्ट के मुताबिक, चीन के एक युद्धपोत ने अमेरिका के जंगी जहाज यूएसएस डिकेटर का रास्ता रोक लिया है. बताया जा रहा है कि इस दौरान चीनी युद्धपोत अमेरिकी पोत के बेहद करीब आ गया. अमेरिका ने इसकी आलोचना करते हुए इसे असुरक्षित और गैरपेशेवर बताया है.

रिपोर्ट के मुताबिक, इस पूरे घटना की जानकारी अमेरिकी प्रशांत बेड़े के प्रवक्ता नेट क्रिस्टेनसन ने दी है. उन्होंने कहा, मिसाइलों से सुसज्जित स्वतंत्र आवाजाही अभियान के तहत जंगी जहाज दक्षिण चीन सागर से जा रहा था. इस दौरान स्प्राटली द्वीप के गेवन और जॉनसन रीफ से 12 नॉटिकल मील के दायरे में चीन के युद्धपोत ने रास्ता रोक लिया.

उन्होंने कहा कि रास्ता रोकने के साथ ही चीन के युद्धपोत ने आक्रामक गतिविधियां भी की. उसने जल्द से जल्द क्षेत्र छोड़ने की चेतावनी भी दी. बता दें कि चीन दक्षिण चीन सागर में अपना हक जताता रहा है. ऐसे में ताइवान, फिलिपिंस, मलेशिया, ब्रुनेई और वियतनाम से उसका विवाद बना रहता है. हालांकि, समुद्री मामलों पर अंतरराष्ट्रीय न्यायाधिकरण ने साल 2016 में चीन के दक्षिण सागर में उसके हक जताने का फैसला सुनाया था.