नई दिल्ली: वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) द्वारा कोविड-19 के इलाज के लिए विकसित दवा फेविपिराविर को लांच करने के लिए दवा कंपनी सिपला पूरी तरह से तैयार है. बृहस्पतिवार को जारी एक आधिकारिक बयान के अनुसार, मूल रूप से जापान के फुजी फार्मा द्वारा विकसित फेविपिराविर के क्लिनिकल ट्रायल के दौरान परिणाम अच्छे रहे हैं, विशेष रूप से हल्के और मध्य लक्षणों वाले कोविड-19 के मरीजों में. Also Read - Coronavirus: देश में कब थमेगा कोरोना का कहर? जानें क्या कहते हैं विशेषज्ञ....

सीएसआईआर-भारतीय रसायन प्रौद्योगिकी संस्थान ने स्थानीय स्तर पर उपलब्ध रसायनों के का उपयोग कर इस दवा को बनाने की सस्ती प्रक्रिया खोजी और उसे सिपला को दिया. बयान के अनुसार, सिपला ने इसका निर्माण शुरू कर दिया है और भारत के औषधि महानियंत्रक से दवा को भारतीय बाजार में उतारने की अनुमति मांगी है. Also Read - ब्रिटेन और दक्षिण अफ्रीका वैरिएंट पर 'सबसे ज्यादा' असरदार है ये वाली कोरोना वैक्सीन, ये रहे आंकड़े

महानियंत्रक ने देश में फेविपिराविर के आपात स्थिति में इस्तेमाल की अनुमति दी है. सिपला अब कोविड-19 से जूझ रहे मरीजों की मदद के लिए यह दवा ला रहा है. इस संबंध में सीएसआईआर-आईआईसीआर के निदेशक एस. चन्द्रशेखर का कहना है कि प्रौद्योगिकी बहुत सस्ती और प्रभावी है. इसकी मदद से सिपला कम समय में ज्यादा दवाओं का उत्पादन कर सकेगी. Also Read - देश में कोरोना संकट को लेकर पीएम मोदी ने की समीक्षा बैठक, राज्यों को दिए कई दिशानिर्देश