नई दिल्ली: राष्‍ट्रीय राजधानी में सुप्रीम कोर्ट के छह न्यायाधीश एच1एन1 से संक्रमित पाए गए, जिसके बाद प्रधान न्यायाधीश एस. ए. बोबडे ने मंगलवार को न्यायाधीशों के साथ बैठक की और सुझाव दिया कि वकीलों और अदालत के कर्मियों को इस संक्रमण से बचाने के लिए उनका टीकाकरण करवाया जाए. Also Read - Tandav Case: सुप्रीम कोर्ट ने कहा, "कई बार अश्लील कंटेंट दिखाते हैं कुछ OTT प्लेटफॉर्म, स्क्रीनिंग जैसा कोई नियम बनाए केंद्र"

यह मुद्दा तब सामने आया जब न्यायाधीश डी. वाई. चंद्रचूड़ ने अदालत कक्ष में अधिवक्ताओं को बताया कि शीर्ष न्यायालय के न्यायाधीशों ने प्रधान न्यायाधीश के साथ बैठक की और विचार किया कि एच1एन1 के प्रसार को रोकने के लिए क्या कदम उठाए जा सकते हैं. Also Read - परिवार के 7 सदस्‍यों की हत्‍या की दोषी शबनम को रामपुर से बरेली जेल भेजा, जानिए क्‍यों?

न्यायमूर्ति चंद्रचूड़ ने कहा कि बैठक में यह फैसला हुआ कि एहतियाती तौर पर अधिवक्ताओं को एच1एन1 टीकाकरण सेवा उपलब्ध करवाई जाए. इस मुद्दे पर बात करने के लिए बाद में सीजेआई ने सुप्रीम कोर्ट बार संघ के पदाधिकारियों के साथ बैठक की. बैठक के कारण प्रधान न्यायाधीश की अध्यक्षता वाली पीठ निर्धारित समय साढ़े दस बजे के बाद, करीब 11.08 पर बैठ पाई. Also Read - Corona Vaccination Latest Updates: सुप्रीम कोर्ट के 30 में से 29 जजों को आज लगेगा टीका, नहीं मिलेगा ऑप्शन