कश्मीर घाटी में मंगलवार को उग्र भीड़ और सुरक्षा बलों के बीच हिंसक झड़प में तीन प्रदर्शनकारियों की मौत हो गई। पुलिस के अनुसार, शोपियां जिले में बकरीद की नमाज के दौरान भीड़ ने सुरक्षा बलों पर हमला कर दिया। इस दौरान सुरक्षा बलों की कार्रवाई में एक युवक की मौत हो गई, जिसकी पहचान 24 साल के शाहिद अहमद के रूप में की गई।Also Read - UNHRC में भारत ने पाकिस्तान को फटकारा, कहा- हमें एक नाकाम देश से सीखने की ज़रूरत नहीं

Also Read - Jammu and Kashmir: बारामुला में बादल फटने से चार लोगों की मौत, एक लापता

पुलवामा जिले के अवंतीपुरा कस्बे में पुलिस के साथ झड़प के दौरान जलालुद्दीन (45) का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। पुलिस क अनुसार, प्रदर्शनकारियों की भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे गए थे, जो मस्जिद तक पहुंच गया, जहां जलालुद्दीन की मौत हो गई। इससे पहले बांदीपोरा जिले में एक युवक मुर्तजा (25) की सुरक्षा बलों के साथ झड़प में मौत हो गई थी। यह भी पढ़ें: कश्मीर: मस्जिदों में ईद की नमाज पढ़ने की इजाज़त, ड्रोन से रखी जाएगी नज़र Also Read - महबूबा मुफ्ती बोलीं, 'तालिबान पर मेरे बयान को जानबूझकर तोड़ा मरोड़ा गया, मुसलमानों को हमेशा साबित करना होता है...'

प्रशासन ने कश्मीर घाटी के सभी 10 जिलों में हिंसक गतिविधियों की रोकथाम के लिए कर्फ्यू लगा दिए हैं। कहीं भी ईद की नमाज के लिए बड़ी भीड़ को एकत्र होने की अनुमति नहीं दी गई। घाटी में आठ जुलाई को सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकवादी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद नौ जुलाई से जारी हिंसा व तनाव में मरने वालों की संख्या बढ़कर 86 हो गई है, जबकि हजारों घायल हुए हैं।