नई दिल्‍ली: महाराष्‍ट्र में सरकार को लेकर मुंबई से दिल्‍ली तक मचे घमासान के बीच राज्‍य में दोबारा मुख्‍यमंत्री की शपथ लेने के बाद देवेंद्र फडणवीस ने सोमवार को सीएम ऑफिस में अपना पहला सिग्‍नेचर किया. उन्‍होंने अपने नए कार्यकाल का पहला हस्‍ताक्षर मुख्‍यमंत्री राहत कोष चेक पर किया. मंत्रालय पहुंचे मुख्‍यमंत्री फडणवीस ने ये चेक कुसुम वेंगुलेकर को प्रदान किया.

सियासी घटनाक्रम के बीच एनसीपी, शिवसेना और कांग्रेस ने राजभवन जाकर अपने विधायकों के समर्थन वाला पत्र वहां के अधिकारियों को सौंपा है. वहीं, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और अन्य पार्टी के नेताओं ने महाराष्ट्र में राकांपा के साथ सरकार बनाने के भाजपा के कदम के खिलाफ संसद परिसर में प्रदर्शन किया.

बता दें कि देवेंद्र फडणवीस को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाने के राज्यपाल के फैसले के खिलाफ शिवसेना कांग्रेस, एनसीपी गठबंधन ने याचिका दायर की थी. इस पर सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने तय किया वह इस याचिका पर मंगलवार को आदेश सुनाएगा.

वहीं, राजनीतिक घटनाक्रम में लापता हुए राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के तीन विधायक सोमवार को मुंबई लौट आए हैं. एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने एकबार फिर दावा किया कि महाराष्ट्र में उनकी पार्टी, कांग्रेस और शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाएगी.

महाराष्ट्र में जारी राजनीतिक ड्रामे और विधायकों के खरीद-फरोख्त की आशंका के बीच एनसीपी ने अपने विधायक मुंबई के पांच सितारा रिजॉर्ट से निकाल दो होटल में भेजे.