नई दिल्ली: एक जुलाई को डॉक्टर्स डे (Doctor’s Day) है. इस मौके पर सीएम ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में अवकाश का एलान किया है. ममता बनर्जी ने ये बड़ा एलान करते हुए केंद्र सरकार से अपील की है कि वह इस दिन को राष्ट्रीय अवकाश के तौर पर घोषित करे. ममता बनर्जी ने एक दिन के अवकाश की घोषणा की है. Also Read - राहत: दिल्ली में कोरोना की स्थिति में सुधार हुआ, मरीजों के ठीक होने की दर 76 प्रतिशत पहुंची

ममता बनर्जी ने कहा कि पूरे पश्चिम बंगाल में एक जुलाई को अवकाश रहेगा. डॉक्टर्स के सम्मान में हमने ये फैसला किया है. ममता ने कहा कि हम फ्रंटलाइन कोरोना योद्धाओं के प्रति आधार जताना चाहते हैं. डॉक्टर्स और नर्स अपनी पूरी ताकत हॉस्पिटल्स में लगाए हुए हैं. वह सब कुछ भूल कर लोगों को ठीक करने में लगे हुए हैं. Also Read - बिहार में कोरोना: 24 घंटे में 704 नए मामले, करीब 14 हज़ार हुई संक्रमितों की संख्या

वहीं, ममता बनर्जी ने ये भी कहा कि केंद्र सरकार को इस दिन को राष्ट्रीय अवकाश के रूप में घोषित करना चाहिए. फ्रंटलाइन कोरोना योद्धाओं के लिए ये सम्मान की बात होगी. बता दें कि कोरोना योद्धाओं के सम्मान में इससे पहले भी कई तरह के काम किए जा चुके हैं. हेलिकॉप्टर से फूल बरसाए गए थे. पूरे देश में अब तक कई डॉक्टर्स की मौत इलाज करते हुए हो चुकी है. पश्चिम बंगाल में भी कोरोना वायरस का कहर है. इसके साथ ही पूरा देश कोरोना वायरस से जूझ रहा है. Also Read - देश के सबसे बड़े स्लम एरिया धारावी में कोरोना पर ब्रेक, मिली बड़ी कामयाबी