गोवा में भाजपा की सत्ता में वापसी होने की स्थिति में मनोहर पर्रिकर के राज्य में लौटने से जुड़ी अटकलों के बीच रक्षा मंत्री ने आज कहा कि मुख्यमंत्री को ‘‘दिल से युवा’’ होना चाहिए भले ही वह जरा सा ‘‘उम्रदराज व्यक्ति’’ हो।

पर्रिकर ने पणजी में पार्टी के युवा सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘हालांकि जरूरत है कि मुख्यमंत्री युवा हों, लेकिन मैं समझता हूं कि जरा उम्रदराज व्यक्ति मुख्यमंत्री हो सकते हैं जो युवाओं की आकांक्षाओं को समझ सकें।’’ गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने एक युवा मतदाता के सवाल के जवाब में कहा, ‘‘मुख्यमंत्री, कोई भी हों, उन्हें दिल से युवा होना चाहिए।’’ गोवा में 40 सदस्यीय विधानसभा के लिए चार फरवरी को चुनाव होने हैं।

वरिष्ठ भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने हाल ही में कहा था कि गोवा में चुनाव के बाद विधायक अपना नेता चुनेंगे, लेकिन यह मानकर चलें कि शीर्ष पद के लिए विकल्प उनके बीच से हो सकते हैं या केंद्र से भेजे जा सकते हैं।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कल एक रैली में कहा था कि अगली सरकार पर्रिकर के नेतृत्व के तहत काम करेगी। इससे पर्रिकर के राज्य में लौटने से जुड़ी अटकलों को बल मिला।

पर्रिकर ने कहा कि गोवा जैसे प्रदेश में विकास के लिए राजनीतिक स्थिरता आवश्यक है। गोवा में 1990 के दशक में कई सरकारें बनीं और गिरीं।

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे याद है, 1989 में मैंने कभी नहीं सोचा था कि मेरी किस्मत में राजनीति लिखी है। लेकिन कुछ परिस्थितियों की वजह से मैं राजनीति में आ गया। उन 10 वषरें में मैंने कम से कम 12 मुख्यमंत्री देखे।’’ जारी