देहरादून: वैश्विक महामारी कोविड-19 के मद्देनजर उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश और हरियाणा के मुख्यमंत्रियों के बीच इस साल कांवड़ यात्रा निरस्त करने को लेकर शनिवार को आम सहमति बन गई. उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस बारे में उत्तर प्रदेश तथा हरियाणा के मुख्यमंत्रियों से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से बात की. Also Read - उत्तर प्रदेश सरकार का फैसला, हफ्ते में शनिवार और रविवार को लॉकडाउन

सभी ने सहमति जताई कि वार्षिक कांवड़ यात्रा इस वर्ष रद्द की जानी चाहिए. गौरतलब है कि कांवड़ यात्रा के दौरान हरिद्वार में शिव भक्तों की भारी भीड़ उमड़ती है. हरिद्वार में बड़ी संख्या में कांवड़ियों को एकत्र होने से रोकने के लिए संतों और महात्माओं ने भी यात्रा रद्द करने का समर्थन किया है. Also Read - बेटा और नौकरानी के साथ लखनऊ लौटी विकास दुबे की पत्नी, पुलिस ने की पुष्टि

मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने गृह मंत्री अमित शाह से बात की थी जिन्होंने इस बारे में सोच-विचार करने के बाद फैसला लेने को कहा था. रावत इस मुद्दे पर जल्द ही पंजाब, दिल्ली तथा राजस्थान के मुख्यमंत्रियों से भी बात करेंगे. Also Read - मीडिया पर भड़की गैंगस्‍टर की पत्‍नी ने कहा, हां, विकास ने गलत किया था और उसके साथ यही होना

(इनपुट भाषा)