देहरादून: वैश्विक महामारी कोविड-19 के मद्देनजर उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश और हरियाणा के मुख्यमंत्रियों के बीच इस साल कांवड़ यात्रा निरस्त करने को लेकर शनिवार को आम सहमति बन गई. उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस बारे में उत्तर प्रदेश तथा हरियाणा के मुख्यमंत्रियों से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से बात की.Also Read - UP MLC Election 2022: यूपी में विधान परिषद की 36 सीटों के लिए दो चरणों में चुनाव का ऐलान

सभी ने सहमति जताई कि वार्षिक कांवड़ यात्रा इस वर्ष रद्द की जानी चाहिए. गौरतलब है कि कांवड़ यात्रा के दौरान हरिद्वार में शिव भक्तों की भारी भीड़ उमड़ती है. हरिद्वार में बड़ी संख्या में कांवड़ियों को एकत्र होने से रोकने के लिए संतों और महात्माओं ने भी यात्रा रद्द करने का समर्थन किया है. Also Read - UP में BJP अध्‍यक्ष जेपी नड्डा ने किया डोर-टू-डोर प्रचार, अखिलेश यादव पर आतंकियों के केस हटाने के आरोप लगाए

मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने गृह मंत्री अमित शाह से बात की थी जिन्होंने इस बारे में सोच-विचार करने के बाद फैसला लेने को कहा था. रावत इस मुद्दे पर जल्द ही पंजाब, दिल्ली तथा राजस्थान के मुख्यमंत्रियों से भी बात करेंगे. Also Read - एयरपोर्ट अफसरों ने हेलीकॉप्‍टर की उड़ान में देरी की वजह बताई तो अखिलेश बोले- मुझे कैसे पता होगा कि क्या कारण था

(इनपुट भाषा)