नई दिल्ली: केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने मंगलवार को भारत के पहले रोबोट पुलिस KP-BOT का केरल के लोगों से परिचय करवाया. यानी सीएम ने रोबोट पुलिस का शुभारंभ किया. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक यह पुलिस रोबोट पुलिस हेडक्वाटर के सामने अपनी ड्यूटी निभाएगा. रोबोट पुलिस यहां आने वाले लोगों को रिसीव करेगा और उनकी जरूरतों के मुताबिक उन्हें रास्ता बताएगा. Also Read - COVID-19 vaccination in India: भारत में दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू, लगभग दो लाख कोरोना योद्धाओं को दी गई पहली खुराक; बड़ी बातें

Also Read - Corona Vaccination in India, Day 1: सफल रहा टीकाकरण अभियान का पहला दिन, 1,91,181 लोगों को लगाया गया टीका

हालांकि यह रोबोट पुलिस किसी पुलिसवाले की जगह नहीं लेगा. इस रोबोट पुलिस का इस्तेमाल डाटा कलेक्ट करने के लिए किया जाएगा जिससे पुलिस सर्विस क्वालिटी को बेहतर बनाया जा सके. Also Read - IND vs AUS 4th Test Live Streaming: जानें कब और कहां देखें भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच चौथे टेस्ट का LIVE टेलीकास्ट और ऑनलाइन स्ट्रीमिंग

एडिशनल डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस (एडीजीपी) मनोज अब्राहम ने बताया कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के फिल्ड में हाल ही में हुए डेवलपमेंट की वजह से हम इंटेलिजेंट रोबोट का इस्तेमाल इंफोर्मेशन असिस्टेंट, फिजिकल असिस्टेंट, सर्विलांस के लिए करना चाहते हैं. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और कई रेंज के सेंसर से कलेक्ट होने वाली सूचना की बदौलत KP-bot मानव की तरह काम करेगा.

मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने रोबॉट के उद्घाटन के बाद कहा कि पुलिसिंग में टेक्नॉलजी शामिल करने के मामले में भारतीय राज्यों का नेतृत्व कर रही केरल पुलिस ह्यूमनॉइड रोबॉट को लाकर इतिहास बनाएगी. आने वाले समय में भारत के अन्य राज्य इस मामले में केरल को फोलो कर सकते हैं.