नई दिल्ली: केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने मंगलवार को भारत के पहले रोबोट पुलिस KP-BOT का केरल के लोगों से परिचय करवाया. यानी सीएम ने रोबोट पुलिस का शुभारंभ किया. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक यह पुलिस रोबोट पुलिस हेडक्वाटर के सामने अपनी ड्यूटी निभाएगा. रोबोट पुलिस यहां आने वाले लोगों को रिसीव करेगा और उनकी जरूरतों के मुताबिक उन्हें रास्ता बताएगा.

हालांकि यह रोबोट पुलिस किसी पुलिसवाले की जगह नहीं लेगा. इस रोबोट पुलिस का इस्तेमाल डाटा कलेक्ट करने के लिए किया जाएगा जिससे पुलिस सर्विस क्वालिटी को बेहतर बनाया जा सके.

एडिशनल डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस (एडीजीपी) मनोज अब्राहम ने बताया कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के फिल्ड में हाल ही में हुए डेवलपमेंट की वजह से हम इंटेलिजेंट रोबोट का इस्तेमाल इंफोर्मेशन असिस्टेंट, फिजिकल असिस्टेंट, सर्विलांस के लिए करना चाहते हैं. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और कई रेंज के सेंसर से कलेक्ट होने वाली सूचना की बदौलत KP-bot मानव की तरह काम करेगा.

मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने रोबॉट के उद्घाटन के बाद कहा कि पुलिसिंग में टेक्नॉलजी शामिल करने के मामले में भारतीय राज्यों का नेतृत्व कर रही केरल पुलिस ह्यूमनॉइड रोबॉट को लाकर इतिहास बनाएगी. आने वाले समय में भारत के अन्य राज्य इस मामले में केरल को फोलो कर सकते हैं.