गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने कांग्रेसी सांसद अहमद पटेल पर आतंकियों से संबंध का आरोप लगाया है. आतंकियों की गिरफ्तारी को लेकर उन्होंने अहमद पटेल से जुड़ाव होने की बात कही है. रुपाणी ने कहा कि आतंकी भरुच के अस्पताल से जुड़ें हैं जिसे अहमद पटेल चलाते हैं. उन्होंने कहा कि सोनिया और राहुल गांधी को सामने आकर सफाई देनी चाहिए और राज्यसभा सांसद अहमद पटेल को इस्तीफा देना चाहिए. कांग्रेस ने इस पर प्रतिक्रिया व्यक्त की है.

सीएम ने एंटी टेररिस्ट स्क्वॉड को धन्यवाद देते हुए कहा कि अगर आतंकी नहीं पकड़े जाते तो वो अपने मकसद में कामयाब हो जाते. आतंकी धर्मगुरू पर हमला करके विदेश भागने की फिराक में थे. ये दोनों आतंकी भरुच में जिस अस्पताल में काम करते थे वो कांग्रेस के नेता अहमद पटेल का है. आतंकियों ने पकड़े जाने के दो दिन पहले ही अस्पताल से इस्तीफा दिया था. इस बड़े आरोप से कांग्रेस के लिए मुसीबत खड़ी हो सकती है.

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि कांग्रेस को बताना चाहिए आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में कांग्रेस हमारे साथ है या हमारे खिलाफ. कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि जिस अस्पताल से अहमद पटेल का नाम जोड़ा जा रहा उससे पटेल पहले ही इस्तीफा दे चुके हैं. अस्पताल प्रशासन ने कहा कि अस्पताल नियमों के मुताबिक भर्ती की गई थी. बीजेपी ऊल-जलूल आरोप लगाकर अपनी नाकामी छुपा रही है.

अहमद पटेल ने सीएम रुपाणी के सारे आरोपों को बेबुनियाद बताया है. उन्होंने कहा कि चुनावों के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा के मसलों पर राजनीति नहीं करनी चाहिए.