पर्यावरण को ध्यान में रखते हुए हवा को साफ करने के लिए सरकार ने अब सीएनजी से चलने वाले दो पहिया वाहनों की शुरूआत की है। सीएनजी से चलने वाले दुपहिया वाहनों की दिल्ली में इंद्रप्रस्थ गैस लिमिटेड प्रयोग के तौर पर इसकी शुरुआत की जा रही है।Also Read - National Apprenticeship Training: नेशनल अप्रेंटिसशिप ट्रेनिंग स्कीम को 5 वर्षों की मंजूरी, 3,054 करोड़ का स्टाइपेन्ड स्वीकृत

Also Read - BJP ने गठबंधन का ऐलान किया, अपना दल और निषाद पार्टी के साथ मिलकर UP विधानसभा का चुनाव लड़ेगी

दिल्ली के सीजीओ कॉम्पेलक्स इलाके में इंद्रप्रस्थ गैस (आईजीएल) के स्टेशन से गुरुवार को इस प्रोजेक्ट को हरी झंडी दिखाई गई। इसमें पेट्रोलियम मंत्री के साथ पर्यावरण मंत्री भी मोजूद रहे। आईजीएल और गैस अथॉरिटी ऑफ इंडिया मिलकर हवा बदलो अभियान चला रहे हैं जिसके तहत सीएनजी से चलने वाले दुपहिया वाहनों की शुरुआत हुई। यह भी पढ़ें: चार पहिया वाहनों के लिये बुरी खबर, सरकार ने जारी किया नया नॉटिफिकेशन Also Read - CBSE Board Exam Results 2021: शिक्षा मंत्री Dharmendra Pradhan का बड़ा ऐलान, रिजल्ट का इंतजार जल्द होगा खत्म, जानिए

असल में दुपहिया वाहनों को प्रदूषण के लिए सबसे अधिक ज़िम्मेदार माना जाता है। इनकी संख्या दिल्ली शहर में ही करीब 55 लाख है और ये 30 फीसद से अधिक प्रदूषण के लिये ज़िम्मेदार हैं। इनका इस्तेमाल करने वाले निम्न मध्य वर्ग के लोग हैं इसलिये ऑड ईवन स्कीम में केजरीवाल सरकार ने इन्हें पाबंदी से दूर रखा।

फोटो क्रेडिट- एनडीटीवी

फोटो क्रेडिट- एनडीटीवी

अधिकारियों ने इस वाहन के बारे में ज्यादा बताने से मना कर दिया लेकिन यह दावा किया कि कार की ही तरह यह प्रदूषण कम करेगा और माइलेज ज्यादा मिलने की पूरी संभावना है। सीएनजी से 75 प्रतिशत कम हाइड्रो कार्बन और 20 प्रतिशत कम कार्बन मोनो ऑक्साइड का उत्सर्जन होगा।

इस गाड़ी में एआरएआई से स्वीकृत सीएनजी रिट्रोफिटमेंट किट है। इसलिए दू-पहिया वाहन को एआरएआई द्वारा मान्यता मिली हुई है। स्कूटर में एक-एक किलो के दो सीएनजी सिलेंडर लगे होंगे। कंपनी का दावा है कि एक बार पूरी गैस भराकर यह स्कूटर 120 किलोमीटर का सफर तय करेगा।

शुरूआत में होंडा कंपनी इस स्कूटर को जांच के लिए डोमिनोज पिज्जा डिलिवर करने वाले लड़कों को मुफ्त में देगी।  करीब 50 स्कूटर जांच के लिए दिए जाएंगे और ये डिलिवरी बॉय हर रोज स्कूटर की परफोरमेंस पर रिपोर्ट देंगे जिसके बाद इसमें जरूरी बदलाव किए जा सकेंगे।

इसके बाद जल्द ही यह आम जनता के लिये भी उपलब्ध होंगे।

News Source- NDtv