नई दिल्ली। जेडीयू सांसद अली अनवर अंसारी ने आज राज्यसभा में कहा कि मार्केट में दुकानदार एक रुपया, दो रुपये और 10 रुपये के सिक्के नहीं ले रहे हैं. अंसारी ने शून्यकाल में यह मुद्दा उठाते हुए कहा कि देश के कई हिस्सों में बैंकों द्वारा भी इन सिक्कों को लेने से इनकार किया जा रहा है.

अंसारी ने कहा कि सिक्के न लिए जाने के वजह से गरीब लोगों को काफी परेशानी हो रही है. उन्होंने कहा कि छोटे-छोटे काम करने वाले लोगों को आम तौर पर ये सिक्के मिलते हैं, लेकिन न तो बड़े कारोबारी ही इसे लेना चाहते हैं और न ही बैंक इन सिक्कों को जमा करते हैं.

उन्होंने कहा कि बैंक अक्सर सिक्के दे देते हैं, लेकिन जब इन्हें जमा करने की बारी आती है तो वे इसे लेने से इनकार कर देते हैं. अंसारी ने कहा कि आजकल भिखारी भी एक रुपया और दो रुपये का सिक्का लेने से इनकार कर देते हैं. ऐसे में सरकार को इन सिक्कों का प्रचलन बंद कर देना चाहिए. इसके लिए नोटबंदी-2 भी शुरू की जा सकती है.