नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली सहित उत्तर के मैदानी इलाकों में उत्तर पश्चिमी हवाओं की गति में इजाफा होने और पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी के कारण अगले 24 घंटों के दौरान सर्दी बढ़ने की संभावना है. मौसम विभाग में दिल्ली क्षेत्र की पूर्वानुमान इकाई के वैज्ञानिक कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि तापमान में गिरावट के साथ ही हवा की गति में कमी आने के अनुमान को देखते हुये दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में इस सप्ताहांत सर्दी बढ़ने के साथ प्रदूषण का स्तर भी बढ़ सकता है.

उल्लेखनीय है कि पिछले दो दिनों में उत्तर पश्चिमी हवाओं की गति बढ़ने के कारण दिल्ली सहित आसपास के इलाकों में वायु प्रदूषण के स्तर में सुधार दर्ज किया गया है. शुक्रवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक पर दिल्ली में प्रदूषण का स्तर 315 दर्ज किया गया. प्रदूषण मानकों के मुताबिक यह बहुत खराब श्रेणी में आता है.

छत्तीसगढ़ पहुंचकर भाजपा नेता मनोज तिवारी ने अरविंद केजरीवाल को बताया ‘अर्बन नक्सली’

डा. श्रीवास्तव ने बताया कि शुक्रवार को दिल्ली एनसीआर क्षेत्र का न्यूनतम तापमान 13 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. अगले 24 घंटों में न्यूनतम तापमान में कम से कम एक डिग्री सेल्सियस की गिरावट हो सकती है. इस कारण से दिल्ली और उत्तर क्षेत्रीय मैदानी इलाकों में इस सप्ताहांत शनिवार को न्यूनतम तापमान सामान्य से कम रहते हुये 12 डिग्री सेल्सियस तक रहने का अनुमान है.

राजस्थान चुनाव: सचिन पायलट की उम्मीदवारी से टोंक पर निगाहें, भाजपा के गढ़ में मिलेगी जीत?

इसके साथ ही उन्होंने अगले दो दिनों तक सुबह कोहरे की स्थिति उत्पन्न होने की भी संभावना व्यक्त करते हुये कहा कि राजधानी में सुबह के समय प्रदूषण के स्तर में बढ़ोतरी हो सकती है. उन्होंने बताया कि शनिवार और रविवार को हवा की मौजूदा गति (20 से 25 किमी प्रति घंटा) में तेजी से गिरावट होने की संभावना को देखते हुये अगले कुछ दिनों तक वायु प्रदूषण का स्तर बढ़ेगा. इसके बाद हवा की गति पांच से सात किमी प्रति घंटे तक आ सकती है.

हवाई अड्डे से नहीं निकल पाईं तृप्ति देसाई, कहा पुलिस ने वापस लौटने को बोला

डा. श्रीवास्तव ने बताया कि 19 नवंबर से उत्तरी क्षेत्र में पश्चिमी विक्षोभ का असर प्रभावी होने के कारण तापमान में बढ़ोतरी होने की संभावना है. इस वजह से अगले सप्ताह न्यूनतम तापमान सामान्य स्तर पर रहेगा.