Mahavir Chakra: लद्दाख के गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हुई झड़प में शहीद होने वाले कर्नल संतोष बाबू (Colonel Santosh Babu) को उनकी वीरता के लिए मरणोपरांत महावीर चक्र (Mahavir Chakra) से सम्मानित किया जाएगा. मालूम हो कि महावीर चक्र (Mahavir Chakra) भारत का दूसरा सबसे बड़ा वीरता पुरस्कार है.Also Read - गलवान वैली में चीनी सेना से झड़प के नायक कर्नल बी संतोष बाबू मरणोपरांत महावीर चक्र से सम्मानित

वहीं, जम्मू कश्मीर में आतंकियों के साथ हुए एनकाउंटर में शहीद हुए मेजर अनुज सूद को मरणोपरांत शौर्य चक्र से सम्मानित किया जाएगा. कर्नल संतोष बाबू 16 बिहार रेजिमेंट के कमांडिंग ऑफिसर थे. Also Read - China ने पहली बार माना, Galwan Valley में Indian Army से मुठभेड़ में मारे गए थे उसके 5 सैन्‍यकर्मी

Also Read - 26 जनवरी को लाल किले पर नहीं हुआ तिरंगे का अपमान, वीडियो में नहीं दिखी ऐसी कोई बात: शिवसेना

इसके साथ-साथ सुबेदार संजीव कुमार को मरणोपरांत वीरता का दूसरा सबसे बड़ा पुरस्कार कीर्ति चक्र (Kirti Chakra) दिया जाएगा.

बता दें कि बीते 4 अप्रैल 2020 को जम्मू कश्मीर में एक मुठभेड़ के दौरान संजीव कुमार ने एक आतंकी को मार गिराया था और दो अन्य को घायल कर दिया था. हालांकि इस दौरान वह शहीद हो गए थे.

बता दें कि 15 जून को पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों ने भारतीय इलाकों में घुसपैठ की कोशिश की थी. इस दौरान दोनों देशों के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हुई थी, जिसमें 20 भारतीय सैनिक शहीद हुए थे.